ताज़ा खबर
 

अलेप्पो में पर्यवेक्षक भेजने के संबंध में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में मतदान

सीरियाई बलों ने इस सप्ताह शहर के पूर्वी इलाके में पूर्ण नियंत्रण करने के लिए अभियान चलाया था। यह इलाका वर्ष 2012 से विद्रोही लड़ाकों के कब्जे में है।

Author संयुक्त राष्ट्र | December 18, 2016 13:30 pm
सीरिया के अलेप्पो के पास बसे विद्रोहियों के कब्जे वाले तारिक-अलबाब में हवाई हमले के बाद जमीन पर बने गड्ढे में जमा पानी। (REUTERS/Abdalrhman Ismail/24 Sep, 2016)

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में, सीरियाई शहर अलेप्पो से लोगों को सुरक्षित निकाले जाने की निगरानी करने और और नागरिकों की सुरक्षा के संबंध में रिपोर्ट देने के लिए पर्यवेक्षकों को वहां भेजने के फ्रांस के प्रस्ताव पर रविवार (18 दिसंबर) को मतदान होगा। बैठक में मसौदा प्रस्ताव के बारे में विचार किया जाएगा। हालांकि सीरिया का सहयोगी और वीटो का अधिकार रखने वाला रूस इसका विरोध कर रहा है। फ्रांस ने शुक्रवार (16 दिसंबर) की देर रात इस आशय का मसौदा वितरित किया था। इसमें कहा गया था कि अलेप्पो में बिगड़ते मानवीय संकट के लिए परिषद् चिंतित है और वहां हजारों लोग एक तरह से बंधकों की तरह रह रहे हैं जिन्हें तत्काल सहायता की एवं बाहर निकाले जाने की जरूरत है। विपक्षी लड़ाकों के आखिरी गढ़ अलेप्पो में हजारों नागरिक फंसे हुए हैं और बाहर निकाले जाने का इंतजार कर रहे हैं। सीरिया सरकार ने विद्रोहियों के खिलाफ चलाया गया अभियान एक दिन पहले रोक दिया था।

सीरियाई बलों ने इस सप्ताह शहर के पूर्वी इलाके में पूर्ण नियंत्रण करने के लिए अभियान चलाया था। यह इलाका वर्ष 2012 से विद्रोही लड़ाकों के कब्जे में है। फ्रांसीसी राजदूत फ्रांस्वा देलात्रे ने कहा कि अन्तरराष्ट्रीय उपस्थिति की वजह से अलेप्पो को दूसरा स्रेब्रेनिका बनने से रोकने में मदद मिलेगी। स्रेब्रेनिका में बाल्कन युद्ध के दौरान 1995 में बोस्नियाई सर्ब बलों ने कब्जा कर लिया था और नरसंहार में हजारों बोसनियाई लोगों को मार डाला गया था। देलात्रे ने एएफपी को बताया, ‘‘इस प्रस्ताव के तहत हमारा लक्ष्य सैन्य अभियानों के तुरंत बाद, इस चरण में अलेप्पो को दूसरा स्रेब्रेनिका बनने से रोकना है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App