ताज़ा खबर
 

सीरिया के बाद उत्‍तर कोरिया पर डोनाल्‍ड ट्रंप की नजर, युद्धपोत भेजकर दी किम जोंग को चेतावनी

उत्तर कोरिया पांच परमाणु परीक्षण कर चुका है। इनमें से दो परीक्षण पिछले साल हुए थे।

Author April 9, 2017 1:04 PM
डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति। (फाइल फोटो) REUTERS/Jonathan Ernst

अमेरिका ने उत्तर कोरिया के ‘दुस्साहसी’ परमाणु हथियार कार्यक्रम के खिलाफ अपनी रक्षात्मक तैयारी को बढ़ाते हुए अमेरिकी नौसैन्य के एक पोत के साथ मारक समूह को कोरियाई प्रायद्वीप की ओर भेजा है। इस कदम से कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ेगा और यह उस वक्त हो रहा है जब हाल ही में अमेरिका ने सीरिया पर मिसाइल हमला किया और इसे उत्तर कोरिया के लिए चेतावनी के तौर पर भी देखा गया जो अपना महत्वाकांक्षी परमाणु कार्यक्रम छोड़ने से इनकार करता रहा है। उत्तर कोरिया ने गुरूवार को सीरिया पर किए गए मिसाइल हमले को ‘असहनीय आक्रमण’ की गतिविधि करार दिया था और कहा था कि इस हमले ने उत्तर कोरिया के परमाणु प्रतिरोध की दिशा में किए जा रहे प्रयास को सही ठहराया है। अमेरिकी प्रशांत कमान के प्रवक्ता कमांडर डी बेनहाम ने बताया, ‘‘अमेरिकी प्रशांत कमान ने ऐहतिहातन कदम उठाते हुए कार्ल विनसन मारक समूह उत्तर को आदेश दिए कि वह पश्चिमी प्रशांत में अपनी तैयारी और मौजूदगी बनाकर रखें।’’

उन्होंने कल एएफपी को बताया, ‘‘अपने मिसाइल परीक्षणों के दुस्साहसी, लापरवाह और अस्थिरकारी कार्यक्रमों और परमाणु हथियारों की क्षमता हासिल करने के पीछे पड़े होने के कारण उत्तर कोरिया क्षेत्र में सबसे पहला खतरा बना हुआ है।’’ इस मारक समूह में निमित्ज श्रेणी का विमान वाहक यूएसएस कार्ल विनसन, एक कैरियर एयर विंग, दो लक्षित मिसाइल विध्वंसक और एक लक्षित मिसाइल क्रूजर शामिल हैं। इस समूह को असल में आॅस्ट्रेलिया जाना था लेकिन वह इसके बजाय सिंगापुर से पश्चिमी प्रशांत महासागर में चला गया।

उत्तर कोरिया पांच परमाणु परीक्षण कर चुका है। इनमें से दो परीक्षण पिछले साल हुए थे। उपग्रहों से प्राप्त विशिष्ट तस्वीरों का विश्लेषण कहता है कि उत्तर कोरिया संभवत: छठे परीक्षण की तैयारी कर रहा है। प्योंगयांग ने अमेरिका-चीन शिखर बैठक से ठीक पहले बीते बुधवार को जापान सागर में मध्यम दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था। उत्तर कोरिया ने फरवरी महीने में एक साथ चार बैलेस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया था जिनमें से तीन जापान के निकट गिरी थीं।

उत्तर कोरिया ने सीरिया में अमेरिकी बमबारी की रविवार को निंदा करते हुए इसे एक संप्रभु देश के खिलाफ पूरी तरह से ‘अस्वीकार्य आक्रमण’ बताया। साथ ही यह भी कहा कि अमेरिका के इस रुख से स्पष्ट है कि उत्तर कोरिया का सैन्य विकास सही है। समाचार एजेंसी एफे ने उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के हवाले से बताया, “सीरिया पर अमेरिकी मिसाइल हमला साफ है। यह एक संप्रभु देश के खिलाफ आक्रमण है, जो अस्वीकार्य व अक्षम्य है। हम इसकी कड़ी निदा करते हैं।” बयान के मुताबिक, “इससे साबित होता है कि सैन्य शक्ति बढ़ाने का हमारा फैसला सही है।”

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम नरेंद्र मोदी को किया फोन, चुनावों में मिली जीत पर दी बधाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App