ताज़ा खबर
 

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने कहा: रूस ‘यूक्रेन’ में न दे दखल

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने आज रूस से यूक्रेन में दखल न देने का आग्रह किया और उससे मलेशियाई एयरलाइन के जेट विमान के पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की जिसे कथित तौर पर रूस समर्थक उग्रवादियों ने गिराया था। तीनों देशों के नेताओं ने कहा कि बातचीत के बाद तीनों, क्रीमिया का कथित […]

Author November 16, 2014 10:56 am
अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने आज रूस से यूक्रेन में दखल न देने का आग्रह किया (फोटो: एपी)

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने आज रूस से यूक्रेन में दखल न देने का आग्रह किया और उससे मलेशियाई एयरलाइन के जेट विमान के पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की जिसे कथित तौर पर रूस समर्थक उग्रवादियों ने गिराया था।

तीनों देशों के नेताओं ने कहा कि बातचीत के बाद तीनों, क्रीमिया का कथित तौर पर विलय करने एवं पूर्वी यूक्रेन को अस्थिर करने की रूस की कार्रवाई का विरोध करने और एमएच 17 विमान को गिराने के लिए जिम्मेदार लोगों को न्याय के दायरे में लाने के मुद्दे पर एकमत थे।

ऑस्ट्रेलिया में जी-20 शिखर सम्मेलन से अलग, अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबॅट और जापान ने प्रधानमंत्री शिन्जो एबे के मध्य हुई त्रिपक्षीय बातचीत के बाद जारी एक बयान में यह संयुक्त आह्वान किया गया।

इस शिखर सम्मेलन में यूक्रेन तथा जुलाई एमएच 17 विमान को गिराए जाने की घटना के मुद्दे पर ओबामा और एबॅट सहित पश्चिमी नेताओं और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच मतभेद साफ नजर आए।

पश्चिमी देशों ने आरोप लगाया कि पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थक विद्रोहियों ने रूस द्वारा आपूर्ति की गई मिसाइल का उपयोग कर विमान गिराया था। मास्को ने आरोपों पर कड़ा प्रतिवाद जताया।

रूस के एक सूत्र ने बताया कि ब्रिस्बेन में तीखी बहस के बाद पुतिन ने जी-20 शिखर सम्मेलन से आज तड़के जाने की योजना बना ली। हालांकि क्रेमलिन ने बाद में इसका खंडन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App