ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान जाकर लापता हो गए दिल्‍ली की हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो बड़े सूफी मौलवी

भारत ने पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय के सामने मजबूती से यह मामला उठाया है।

हजरत निजामुद्दीन दरगाह। (Source: Twitter)

निजी दौरे पर पाकिस्‍तान गए दिल्‍ली की हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो मौलवी लापता हो गए हैं। आसिफ निज़ामी और नज़ीम निज़ामी नाम के दोनों मौलवी पहले अपने रिश्‍तेदारों से मिलने कराची गए थे, फिर लाहौर में दरगाहों पर गए थे। एएनआई के अनुसार, इनमें से एक कराची और दूसरा लाहौर से लापता हुआ है। भारत ने पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय के सामने मजबूती से यह मामला उठाया है।

समाचार एजंसी एएनआई ने लापता होने से पहले दोनों की आखिरी तस्‍वीरें जारी की हैं। विस्‍तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा है।

वहीं दूसरी तरफ, पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में 11 अफगान नागरिकों और प्रतिबंधित संगठन तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान के सदस्यों सहित 30 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आज बताया कि पाकिस्तान रेंजर्स और पुलिस की आतंक विरोधी छापेमारी राष्ट्रव्यापी सैन्य अभियान ‘राद उल फसाद’ का हिस्सा है जो आतंकियों के खिलाफ प्रांत में पिछले महीने शुरू किया गया था। सेना ने एक बयान में कहा कि सुरक्षा बलों ने पिछले दो दिनों में लाहौर, रावलपिंडी, सियालकोट और इस्लामाबाद में खुफिया जानकारी के आधार पर छापेमारी की। इसमें कहा गया, ‘‘सुरक्षाकर्मियों ने 11 अफगान सहित 26 संदिग्ध आतंकियों को हिरासत में लिया और हथियार, गोला बारूद, आईईडी और आत्मघाती जैकेट तैयार करने की सामग्री जब्त की। संदिग्धों को पूछताछ के लिए अज्ञात जगहों पर ले जाया गया।’’

एक दूसरी छापेमारी में आतंकवाद निरोधक विभाग ने रावलपिंडी में तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया। संदिग्ध रावलपिंडी में विधि प्रवर्तन कर्मियों को निशाना बनाकर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। पुलिस ने उनके पास से एक किलोग्राम विस्फोटक सामग्री, चार डेटोनेटर और एक हथगोला बरामद किया। देश में पिछले कुछ समय में हुए कई आतंकी हमलों में 125 से अधिक लोगों के मारे जाने के बाद पिछले महीने राद उल फसाद अभियान शुरू किया गया।

पाकिस्‍तान की दरगाह में विस्‍फोट, देखें वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App