ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी लड़कियों से शादी कर रहे चाईनीज! फिर अपने देश में कर रहे तस्करी

कोटा मोमिन तहसील निवासी समीना और तसव्वुर बीबी ने पाकिस्तानी मीडिया को बताया कि दोनों गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं, जिसके चलते परिजनों उनका विवाह खुद को मुस्लिम बताने वाले चीनी नागरिकों से कर दिया।

प्रतीकात्मक तस्वीर

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कोट मोमिन निवासी दो लड़कियों का आरोप है कि दो चीनी नागरिकों ने उनसे विवाह किया और अपने देश में उनकी तस्करी करने की कोशिश की। हालांकि जब दोनों को इस बात का अहसास हुआ कि खुद को मुस्लिम बताने वाले आरोपी लाहौर में मैरिज ब्यूरो की आड़ में वेश्यालय चला रहे थे, तब दोनों किसी तरह से उनके चंगुल से भागी। कोटा मोमिन तहसील निवासी समीना और तसव्वुर बीबी ने पाकिस्तानी मीडिया को बताया कि दोनों गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं, जिसके चलते परिजनों उनका विवाह खुद को मुस्लिम बताने वाले चीनी नागरिकों से कर दिया। आरोपियों ने परिजनों को आश्वासन दिया कि वो लाहौर में रहेंगे और परिवार के साथ मिलकर उनके कारोबार में भी मदद करेंगे। पीड़ित लड़की ने बताया, ‘मुझे अहसास हुआ कि ना तो वो मुस्लिम था और ना ही ईमानदार। इसके उलट चाईनीज मैरिज ब्यूरो की आड़ में वेश्यालय चला थे। जैसे ही मुझे इस बात की सच्चाई पता चला मैं किसी तरह वहां भाग निकली।’ आरोपियों को सजा दिलाने के लिए समीना और तसव्वुर ने वकील के जरिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की अपील की है।

बता दें कि इससे पहले भी 6 मई को पुलिस ने वेश्वावृत्ति संगठन से जुड़े 12 संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार किया था। सभी पाकिस्तानी महिलाओं को चीन ले जाने के कारोबार में लिप्त थे। तब पाकिस्तान फेडरल जांच एजेंसी (FIA) के आला अधिकारी जमील अहमद ने बताया कि गिरफ्तार संदिग्धों में आठ चीन के नागरिक थे जबकि चार सदस्य पाकिस्तान मूल के पकड़े गए। संगठन महिलाओं को वेश्यावृति जैसे गोरखधंधे में ढकलने में लिप्त था। जमील अहमद के मुताबिक, ‘पाकिस्तानी महिलाओं की चीन में बढ़ती तस्करी की जानकारी मिलने के बाद इस गिरोह का भंडाफोड़ किया, जहां इन महिलाओं को वेश्यावृत्ति में धकेला जा रहा था।’ उन्होंने कहा कि इस काम में कई गिरोह सक्रिय थे, जो मुख्य रूप से पाकिस्तान के ईसाई अल्पसंख्यकों को निशाना बना रहे थे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X