ताज़ा खबर
 

तुर्की तख्तापलट: खुफिया एजेंसी और सेना प्रमुख पर लगाम कसना चाहते हैं राष्ट्रपति अर्दोआन

अर्दोआन ने कहा कि 15 जुलाई को हुई तख्तापलट की कोशिश के मद्देनजर ‘सैन्य स्कूल बंद किए जाएंगे और एक राष्ट्रीय सैन्य विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा।’

Author अंकारा | July 31, 2016 3:55 PM
तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन (Reuters/File)

तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैयप अर्दोआन ने कहा है कि तख्तापलट की नाकाम कोशिश के बाद वह देश की खुफिया एजेंसी तथा सेना प्रमुख को सीधे अपने नियंत्रण में लाने के लिए संवैधानिक बदलाव चाहते हैं। अर्दोआन ने शनिवार (30 जुलाई) को ए-हेबर टेलीविजन के साथ साक्षात्कार में कहा, ‘हम (संसद) में एक लघु संविधान संशोधन पैकेज लाना चाहते हैं। यदि यह मंजूर हुआ तो नेशनल इंटेलीजेंस ऑर्गेनाइजेशन और सेना प्रमुख राष्ट्रपति के नियंत्रण में आ जाएंगे।’

संवैधानिक संशोधन के लिए सरकार को दो तिहाई बहुमत की आवश्यकता होगी और इसके लिए उसे विपक्षी दलों के समर्थन की जरूरत होगी। अर्दोआन ने कहा कि 15 जुलाई को हुई तख्तापलट की कोशिश के मद्देनजर ‘सैन्य स्कूल बंद किए जाएंगे और एक राष्ट्रीय सैन्य विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X