ताज़ा खबर
 

न्यूयॉर्क टाइम्स में बेनाम आलेख- राष्ट्रपति के कदम अमेरिका के लिए हानिकारक, ट्रम्प आग-बबूला

अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने द न्यूयॉर्क टाइम्स में एक लिखा है जिसमें कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ऐसे तरीके से काम कर रहे हैं जो ‘‘हमारे गणतंत्र की स्थिति के लिए हानिकारक है ।’’

Author September 6, 2018 1:24 PM
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फोटो सोर्स- REUTERS)

अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने द न्यूयॉर्क टाइम्स में एक लिखा है जिसमें कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ऐसे तरीके से काम कर रहे हैं जो ‘‘हमारे गणतंत्र की स्थिति के लिए हानिकारक है ।’’ डोनाल्ड ट्रंप ने इसे ‘‘देशद्रोह’’ और ‘‘कायरतापूर्ण’’ बताया। ‘‘आई एम पार्ट आॅफ द रेसिस्टेंस इनसाइड द ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन’’ नामक लेख में अधिकारी ने कहा कि उन्होंने और उनकी जैसी सोच के सहर्किमयों ने राष्ट्रपति के एजेंडा और उनके खराब रुझानों को रोकने का आह्वान किया है। बिना नाम और परिचय वाले इस लेख में लेखक ने दावा किया कि ट्रंप अपने राष्ट्रपति पद के लिए ऐसी परीक्षा का सामना कर रहे हैं जो पहले कभी किसी आधुनिक अमेरिकी राष्ट्रपति ने नहीं की। द न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक ट्वीट कर लेखक की पहचान पुरुष के तौर पर की है।

अखबार विरले ही बेनाम लेख प्रकाशित करता है। अखबार ने कहा कि वह लेखक के अनुरोध पर ट्रंप प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी के नाम का खुलासा नहीं कर रहा है।
अधिकारी ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि प्रशासन सफल हो और मानते हैं कि उनकी कई नीतियों ने पहले ही अमेरिका को सुरक्षित तथा समृद्ध बनाया। लेकिन हमारा मानना है कि हमारा पहला कर्तव्य इस देश के प्रति है और राष्ट्रपति इस तरीके से काम कर रहे हैं जो हमारे गणतंत्र के स्वास्थ्य के लिए अहितकारी है।’’ बहरहाल, ट्रंप व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत में अखबार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि ‘‘बिना नाम का मतलब कायर, संपादकीय।’’ एक ट्वीट में उन्होंने द न्यूयॉर्क टाइम्स से व्यक्ति की पहचान उजागर करने की मांग की।

ट्रंप ने ट्विटर पर कहा, ‘‘देशद्रोह। क्या यह तथाकथित वरिष्ठ अधिकारी सच में है या एक अन्य फर्जी सूत्र के साथ यह महज द न्यूयॉर्क टाइम्स की विफलता है। अगर कायर बेनाम व्यक्ति निश्चित तौर पर है तो टाइम्स को राष्ट्रीय सुरक्षा के मकसद से उसे एक बार सरकार को सौंपना चाहिए।’’ व्हाइट हाउस ने इस संपादकीय को लिखने वाले वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी के इस्तीफे की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App