ताज़ा खबर
 

विश्व परिक्रमा: वाशिंगटन में शपथ ग्रहण के दौरान हमले की आशंका

अमेरिका के रक्षा अधिकारियों ने बताया कि उन्हें ऐसी आशंका है कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ समारोह की सुरक्षा में तैनात कोई जवान या कोई भीतरी शख्स हमला कर सकता है।

Author Updated: January 19, 2021 12:37 AM
presidentसांकेतिक फोटो।

इसके बाद एफबीआइ ने वाशिंगटन आ रहे सभी जवानों पर नजर रखनी भी शुरू कर दी है। हमले के खतरे के बीच हजारों पुलिसकर्मियों और सुरक्षा एजंसियों के कर्मियों के साथ-साथ ‘नेशनल गार्ड’ के 25,000 से अधिक जवानों को यहां तैनात किया गया है। निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के अमेरिकी संसद भवन पर छह जनवरी को हुए हिंसक हमले के बाद से ही सुरक्षा कड़ी की गई है। लेकिन अब शहर की सुरक्षा में तैनात कुछ जवानों के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति और नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति के लिए खतरा उत्पन्न करने का डर सताने लगा है।

सैन्य मामलों के मंत्री रेयान मैककार्थी ने रविवार को बताया कि अधिकारी संभावित खतरे को लेकर सतर्क हैं और सभी कमांडर को शपथ समारोह से पहले उनकी रैंक में किसी भी तरह की समस्या पर गौर करने को कहा है। हालांकि उनका कहना है कि अभी तक किसी तरह के खतरे के कोई संकेत नहीं मिले हैं।

मैककार्थी ने कहा कि वह लगातार इस प्रक्रिया का पालन कर रहे हैं और अभियान में तैनात सभी लोगों पर नजर रखी जा रही है। कई अधिकारियों ने बताया कि डीसी में ‘नेशनल गार्ड’ की तैनाती का काम एक सप्ताह से कुछ पहले शुरू किया गया था और यह बुधवार तक पूरा हो जाएगा। मैककार्थी ने कहा, ‘हमें सतर्क रहने की जरूरत है और अभियान से जुड़े सभी पुरुषों और महिलाओं पर पूरी नजर रखने के लिए हमें सभी तंत्रों का इस्तेमाल करने की जरूरत है।’

इससे पहले, एफबीआइ ने अपने आंतरिक बुलेटिन में शपथ समारोह से पहले वाशिंगटन डीसी और सभी 50 राज्यों के संसद भवनों में हथियारबंद प्रदर्शन की आशंका भी जताई थी। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन 20 जनवरी को कार्यभार संभालेंगे। (एजंसी)

Next Stories
1 शोध: अप्रैल से पर्यटकों को अंतरिक्ष की सैर कराने की तैयारी
2 बांग्लादेश मत भेजो, वहां की हवा ले लेगी जान- कोर्ट ने शरणार्थी को लेकर सुनाया अनूठा फैसला
3 डोनाल्ड ट्रंप के बेटे की एलन मस्क से गुहार- ऐसा प्लैटफार्म बनाओ जहां पिता पर न लगे बैन
यह पढ़ा क्या?
X