ताज़ा खबर
 

तीन गुना तेजी से बेहतर हो रही है दुनिया की सबसे मोटी महिला की हालत, अब बोतल खोल लेती है और बॉल से खेलती है

चिकित्सा अधिकारी यासीन ने कहा, ईमान अब अपने निचले अंगों को हिला-डुला पाती हैं। उम्मीद है कि जल्द ही वो अपने बिस्तर से उठकर व्हीलचेयर के सहारे चल-फिर सकेगी।

दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद (Photo Source: Video Grab)

दुनिया की सबसे वजनी महिला के नाम से प्रसिद्ध मिस्र की इमान अहमद की हालत में अब धीरे-धीरे सुधार आ रहा है। अब इमान खुद ही पानी की बोतल खोलकर पानी पी लेती हैं और डॉक्टरों से बात भी करती हैं। इमान का इलाज कर रहे बुर्जील अस्पताल के एक डॉक्टर ने वीडियो शेयर करके जानकारी दिया है कि वो बेड पर लेटे-लेटे गेंद भी खेल लेती हैं। उनकी हालत में हाल ही में तीन गुणा सुधार आया है। यह कोई चमत्कार से कम नहीं है।

अबू धाबी स्थित बुर्जील अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. यासीन एल शाहत ने कहा कि इमान अपने इलाज के दो चरण के बाद खुद ही खाना खा सकेगी और चलने-फिरने के लिए इलेक्ट्रोनिक व्हीलचेयर का इस्तेमाल कर सकेगी। उन्होंने कहा कि ईमान को डाइट टेबल दिया गया है, जिससे वो उसके मुताबिक डाइट ले। उम्मीद है कि उनका वजन अभी और कम होगा।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Gold
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback

यासीन ने कहा है कि हमने अपने मेडिकल करियर में ऐसा चमत्कार नहीं देखा है। करीब ढ़ाई साल के बाद उनमें ऐसा सुधार देखने को मिल रहा है। इसलिए अब हम उनके इलाज के दूसरे चरण की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल में 20 डॉक्टरों की टीम इमान के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर लगातार निगरानी रखे हुए हैं। उनके इलाज के लिए डॉक्टरों की टीम ने एक ट्रीटमेंट चार्ट बनाया है। जिसमें मल-मूत्र, शारीरिक गतिविधि, संक्रमण जैसे मुद्दों को शामिल किया गया है। चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि इलाज के पहले चरण में उन्हें तीन महीनों तक मनोवैज्ञानिक सहायता दी जाएगी।

ईमान का इलाज कर रहे एक डॉक्टर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया है। जिसमें देखा जा सकता है कि ईमान डॉक्टरों से हंसकर बातें कर रही है। डॉक्टरों ने इस सुधार को पॉजीटिव बताया है।

वहीं अबु धाबी के अस्पताल ने एक रिपोर्ट में बताया है कि ईमान के इलाज के लिए कुछ दवाओं को बदला गया है। उनके इलाज में एंटीपिलीप्टीक और एंटीकोग्यूलेशन दवाओं की खुराक को कम कर दिया गया है। साथ ही कुछ नई दवाएं शुरु की गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर उनमें और सुधार दिखाई देता है तो वे इन दवाओं को बंद कर देंगे।

चिकित्सा अधिकारी यासीन ने कहा, ईमान अब अपने निचले अंगों को हिला-डुला पाती हैं। उम्मीद है कि जल्द ही वो अपने बिस्तर से उठकर व्हीलचेयर के सहारे चल-फिर सकेगी। वो पिछले ढ़ाई सालों से बिस्तर पर लगातार लेटी हुई है। लेकिन दो स्ट्रोक के बाद उनमें काफी सुधार आया है। अब वो दिन में दो बार भोजन करती हैं। अब हमारी कोशिश है कि वो खुद से मौखिक दवाएं खाए। अबतक वो नैसोगैस्ट्रिक ट्यूब के सहारे दवाएं ले रही हैं।

एक डॉक्टर ने कहा कि इमान पहले बिना सहारे के बैठ भी नहीं पाती थी लेकिन अब कुछ समय के लिए वह सहारा लेकर बैठ पाती है। इमान के जो टेस्ट किए गए हैं वे सब नॉर्मल हैं, उन्हें देखर लगता है कि इमान भविष्य में एक दम ठीक हो जाएगी।

देखिए वीडियो - मनचलों से तंग आकर लगाई थी आग, इलाज के दौरान हुई मौत, मरने से पहले कहा-भूत बनकर बचा लूंगी पापा को

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App