ताज़ा खबर
 

जापानी बायोलॉजिस्ट योशिनोरी ओसुमो को मिला वर्ष 2016 का चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार

ऑटोफैगी एक शारीरिक प्रक्रिया है जो शरीर में कोशिकाओं के हो रहे क्षरण/नाश से निपटती है। अपने रिसर्च के लिए नोबेल पुस्कार मिलने की सूचना के बाद यो​शिनोरी ने कहा कि मैं काफी चकित रह गया था।
Author स्टॉकहोम | October 3, 2016 17:43 pm
जापानी बायोलॉजिस्ट योशिनोरी ओसुमो को वर्ष 2016 का चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार दिया गया है। (Photo: Nobel Prize Foundation Twitter Handle)

जापान के बायोलॉजिस्ट योशिनोरी ओशुमी को साल 2016 का चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है। यह पुरस्कार उन्हें ऑटोफैजी के क्षेत्र में नए अनुसंधान के लिए दिया गया है। स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में पुरस्कारों की घोषणा करते हुए नोबेल प्राइस कमिटी ने एक बयान जारी कर कहा कि योशिनोरी ओशुमी ने ऑटोफैजी के क्षेत्र में बेहद नई खोजें की हैं। इसके लिए उन्हें वर्ष 2016 के चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। ऑटोफैगी एक शारीरिक प्रक्रिया है जो शरीर में कोशिकाओं के हो रहे क्षरण/नाश से निपटती है। अपने रिसर्च के लिए नोबेल पुस्कार मिलने की सूचना के बाद योशिनोरी ने कहा कि मैं काफी चकित रह गया था। जिस वक्त मुझे इस बारे में जानकारी मिली तब मैं लैब में था।

ऑटोफैजी की सबसे पहली चर्चा 1974 में क्रिटियन डे ड्यूव ने की थी। ऑटोफैजी से ही ऑटोफोबिया शब्द बना है, जिसका मतलब होता है अकेले रह जाने का डर। ऑटोफैगी एक नेचुरल डिफेंस है, जो शरीर के जिंदा रहने में मदद करता है। ये शरीर को बिना खाने के रहने में मदद करता है, साथ ही बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में मदद करता है। ऑटोफैगी प्रॉसेज के नाकाम होने के कारण ही इंसान में बुढ़ापा और पागलपन जैसी चीजें बढ़ती हैं।

जापानी साइंटिस्ट योशिनोरी ओशुमी के रिसर्च के बारे में वीडियो में जाने:

नोबेल प्राइज देने वाली संस्था ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस संबंध में ट्वीट कर जानकारी दी है। साल 2015 में चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार को तीन वैज्ञानिकों विलियम सी कैम्पबेल, सतोषी ओमुरा और योतो तु ने साझा किया था। तीनों वैज्ञानिकों को मलेरिया और ट्रॉपिकल बीमारियों का उपचार विकसित करने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया था। मेडिसिन की श्रेणी में 1905 में शुरू हुए नोबेल पुरस्कार का यह 107वां पुरस्कार है।

भौतिकी के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की घोषणा मंगलवार को, रसायन विज्ञान बुधवार को शांति के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की घोषणा शुक्रवार को होगी। अर्थशास्त्र और साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की घोषणा अगले सप्ताह की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.