ताज़ा खबर
 

मार्क जकरबर्ग से चीनी ने छीनी बादशाहत, ”पोनी” मा बने सोशल मीडिया के नए किंग, दान दे दिए 125 अरब रुपए

शेनझेन विश्वविद्लाय से 1993 में कम्प्यूटर साइंस में स्नातक हुआतेंग ने कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के पांच साल बाद टेनसेंट नामक कंपनी शुरू की थी।

Author Updated: November 22, 2017 3:59 PM
टेनसेंट के चेयरमैन और सीईओ मा हुआतेंग (REUTERS/Bobby Yip/File Photo)

पिछले एक दशक में चीन और चीनियों ने पूरी दुनिया में सफलता के नए कीर्तिमान बनाए हैं। इस कड़ी में नया नाम जुड़ गया है मा हुआतेंग का। पोनी मा के नाम से चर्चित 46 वर्षीय मा हुआतेंग ने अमीरी के मामले में फेसबुक के सह-संस्थापक मार्क जकरबर्ग को पीछे छोड़ दिया है। सीएनएन के अनुसार जकरबर्ग को पीछे छोड़ने के साथ ही हुआतेंग इस समय दुनिया के सबसे बड़े सोशल मीडिया कारोबारी बन गये हैं। उनकी संपत्ति करीब 42 अरब ( करीब 27 हजार करोड़ रुपये) डॉलर आंकी गयी है। हुआतेंग केवल जेब के ही नहीं दिल के भी अमीर हैं। आपको ये जानकर खुशी होगी कि इस युवा चीनी कारोबारी ने दो अरब डॉलर (करीब 1200 करोड़ रुपये) दान दिए हैं। हुआतेंग ने स्नैपचैट और टेस्ला जैसी अमेरिकी कंपनियों में निवेश भी कर रखा है।

हुआतेंग टेनसेंट नामक चीनी कंपनी के चेयरमैन और सीईओ हैं। उनकी कंपनी मीडिया, सोशल मीडिया आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस इत्यादि के क्षेत्र में कारोबार करती है। हाल ही में उनकी कंपनी का कुल मूल्य फेसबुक से ज्यादा आंका गया। जकरबर्ग को ही नहीं हुआतेंग ने अपने हमवतन और अलीबाबा के संस्थापक जैक मा को भी इस मामले में पीछे छोड़ दिया है। 1993 में शेनझेन विश्वविद्लाय से कम्प्यूटर साइंस में स्नातक उत्तीर्ण करने वाले हुआतेंग ने कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के पांच साल बाद टेनसेंट (टीसीएचवाई) नामक कंपनी शुरू की थी। शुरुआत में टेनसेंट की पहचान पश्चिमी दुनिया के प्रोडक्ट का चीनी संस्करण तैयार करने को लेकर थी। लेकिन वीचैट की स्थापना की साथ ही उनकी कंपनी के भाग्य बदल गये। व्हाट्सऐप की तरह मैसेजिंग सेवा देने वाले वीचैट के करीब एक अरब यूजर हैं।

टेनसेंट ने मोबाइल गेमिंग में भी जरबदस्त सफलता हासिल की। इसके बनाए “क्लैश ऑफ क्लैन्स” और “ऑनर ऑफ किंग्स” जैसे गेम काफी लोकप्रिय हुए। हुआतेंग की टेनसेंट में 8.6 प्रतिशत हिस्सेदारी है। पिछले एक साल में उनकी कंपनी का बाजार मूल्य और शेयरों के भाव करीब दोगुने हो चुके हैं। लेकिन दौलत बढ़ने के साथ ही हुआतेंग समाज के प्रति अपनी प्रतिबद्धता भी नहीं भुले हैं। उन्होंने चीन में स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े सामाजिक कार्यों को 1200 करोड़ रुपये दान देने की घोषणा की है। हुआतेंग कारोबार के साथ ही राजनीति से भी जुड़ाव रखते हैं। वो चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के नेशनल पीपल्स कांग्रेस में डिप्टी रह चुके हैं।

ऑनलाइन कारोबार से दुनिया में नाम कमाने वाले जैक मा के उलट हुआतेंग सुर्खियों में रहना पसंद नहीं करते। उन्हें मीडिया को इंटरव्यू देना भी ज्यादा पसंद नहीं। चुपचाप सतह से नीचे रहकर काम करने वाले हुआतेंग की टेनसेंट ने मंगलवार (21 नवंबर) को फेसबुक और अलीबाबा को कुल मूल्य के मामले में पीछे छोड़ दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ट्रंप की एशिया यात्रा के दौरान ह्वाइट हाउस के सैनिकों द्वारा विदेशी महिलाओं से ‘अनुचित व्यवहार’ की जांच शुरू- रिपोर्ट
2 11 लोगों को ले जा रहा अमेरिकी नेवी का विमान प्रशांत महासागर में क्रैश, 8 को बचाया गया
3 इस टीचर ने अपने कई छात्रों से बनाए शारीर‍िक संबंध, न्‍यूड फोटो भी भेजती थी, अब फंसी