ताज़ा खबर
 

नवाज शरीफ के घर के पास तालिबान ने किया फिदायीन हमला, 10 को मार डाला, 25 घायल

बचाव अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट बुधवार रात पुलिस जांच चौकी के पास हुआ। यह विस्फोट शरीफ परिवार के घर से कुछ किलोमीटर दूर और तबलीगी जमात सेंटर की सभा के नजदीक में हुआ।

Author लाहौर | March 15, 2018 9:16 PM
25 घायलों में करीब 14 पुलिसकर्मी शामिल हैं। (Source: AP)

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के लाहौर स्थित घर के पास पुलिस जांच चौकी पर तालिबान के एक किशोर फिदायीन के हमले में छह पुलिसकर्मियों समेत 10 लोगों की मौत हो गई और 25 अन्य घायल हुए। बचाव अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट बुधवार रात पुलिस जांच चौकी के पास हुआ। यह विस्फोट शरीफ परिवार के घर से कुछ किलोमीटर दूर और तबलीगी जमात सेंटर की सभा के नजदीक में हुआ। बचाव 1122 के प्रवक्ता जे. सज्जाद ने पीटीआई को बताया था, ‘‘नौ लोगों की मौत हुई है, जिसमें दो इंस्पेक्टर और तीन कांस्टेबल शामिल हैं।’’ तबलीगी जमात के रैविंद मर्कज पर हमले में जख्मी हुए एक पुलिसकर्मी की गुरुवार को मौत हो गई। इसी के साथ मरने वलों की संख्या बढ़कर 10 हो गई।

सज्जाद ने कहा कि 25 घायलों में करीब 14 पुलिसकर्मी शामिल हैं। उनमें से कुछ की हालत नाजुक बताई गई है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने खबर दी है कि संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) के मुताबिक, चार आतंकवादियों ने तबलीगी जमात की सभा में घुसने की कोशिश की लेकिन पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोक लिया। एक हमलावर ने खुद को उड़ा लिया जबकि बाकी मौके से भाग गए। पंजाब के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) आरिफ नवाज ने पुष्टि की कि यह फिदायीन हमला था जिसे एक किशोर ने अंजाम दिया था। उसने जांच चौकी के पास खुद को उड़ा लिया।

लाहौर के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) डॉ हैदर अशरफ ने बताया कि तबलीगी जमात सेंटर के पास बनी पुलिस चौकी पर एक किशोर ने खुद को उड़ा लिया, जहां कम से कम 14 पुलिसकर्मी मौजूद थे। बहरहाल, उन्होंने किशोर की सटीक उम्र नहीं बताई। उन्होंने कहा कि हमले का निशाना पुलिसकर्मी थे। कुछ पुलिसकर्मियों की हालत नाजुक है। अधिकारी ने कहा कि फिदायीन हमलावर के शरीर के कुछ अंग भी बरामद कर लिए गए हैं। इस बीच हजारों लोगों ने हमले के शिकार लोगों के जनाजे में शिरकत की। पुलिसकर्मियों  के अंतिम संस्कार में पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ भी मौजूद थे।

यह विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि इसकी गूंज कई किलोमीटर तक सुनाई दी। निसार पुलिस चौकी पर विस्फोट के बाद धुएं का गुबार भी देखा गया। कुछ खबरों में बताया गया है कि तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने हमले की जिम्मेदारी ली है। प्रतिबंधित संगठन ने पुलिसकर्मियों पर और हमलों की धमकी भी दी है। यह फिदायीन हमला लाहौर में होने वाले पाकिस्तान सुपर लीग के सेमीफाइनल मैच से एक हफ्ता पहले हुआ है। अशरफ ने कहा कि यह मैच अपने कार्यक्रम के मुताबिक होगा और इस बाबत सुरक्षा के सभी इंतजाम किए गए हैं। पाकिस्तानी रेंजर्स और त्वारित प्रतिक्रिया बल मौके पर पहुंच गया है और पुलिस के साथ इलाके को घेर लिया है। राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने हमले की निंदा करते हुए इसे कायराना हरकत बताया। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं से आतंकवाद के खिलाफ सरकार की लड़ाई रुकेगी नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App