अफगानिस्तान में महिलाओं के लिए तालिबान का फरमान: सिर से पैर तक ढक कर आएं स्कूल; क्लासरूम में लगा पर्दा

तालिबान की तरफ से कहा गया है कि यूनिवर्सिटीज में लड़के और लड़कियों के क्लास अलग-अलग हों और अगर ऐसा होना संभव नहीं है तो बीच में पर्दे लगा दिए जाए। कहा गया है कि छात्राओं को सिर्फ महिलाएं ही पढ़ा सकती हैं। लेकिन अगर इसमें भी मुश्किल हो तो अच्छे चरित्र वाले पुरूष भी छात्राओं को पढ़ा सकते हैं।

Afghanistan School Taliban Schools
अफगानिस्तान में महिलाओं पर हो रहे जुल्म के खिलाफ प्रदर्शन करती महिलाएं (फोटो- PTI)

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद अब धीरे-धीरे तालिबान की तरफ से फरमान जारी होने लगे हैं। तालिबान की तरफ से जारी आदेश के अनुसार अब यूनिवर्सिटी में पढ़ने वालीं महिलाओं को अपना चेहरा, नकाब से ढ़कना होगा। साथ ही सिर से पैर तक बदन ढक कर ही अब लड़कियों को स्कूल में भी प्रवेश की अनुमति मिलेगी।

जारी फरमान में कहा गया है कि यूनिवर्सिटीज में लड़के और लड़कियों के क्लास अलग-अलग हों और अगर ऐसा होना संभव नहीं है तो बीच में पर्दे लगा दिए जाए। कहा गया है कि छात्राओं को सिर्फ महिलाएं ही पढ़ा सकती हैं। लेकिन अगर इसमें भी मुश्किल हो तो अच्छे चरित्र वाले पुरुष भी छात्राओं को पढ़ा सकते हैं। तालिबान की तरफ से जारी यह आदेश उन स्कूलों और कॉलेजों पर लागू किया जाएगा जिनकी स्थापना 2001 के बाद हुयी है।

इधर हॉलीवुड अभिनेत्री एंजेलिना जोली ने अफगानिस्तान में महिलाओं और लड़कियों की स्थिति को लेकर चिंता व्यक्त की है। शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त की विशेष दूत जोली ने जर्मनी के एक समाचार पत्र को रविवार को दिए साक्षात्कार में कहा, “ मुझे नहीं लगता कि अफगानिस्तान में आगामी सरकार दोबारा वैसी ही स्थिति एवं हालात बना देगी जैसा 20 वर्ष पहले थे।“

लेकिन इसके बावजूद दिग्गज अभिनेत्री ने अफगानिस्तान में महिलाओं की स्थिति को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की है। जोली ने साप्ताहिक समाचार पत्र वेल्ट एम सोनटैग से कहा, “ मैं उन सभी महिलाओं और बालिकाओं के बारे में सोच रही हूं, जिन्हें यह नहीं पता कि वे स्कूल अथवा काम करने अपने घर से बाहर जा सकेंगी या नहीं। मैं अफगानिस्तान के उन युवाओं के भविष्य को लेकर भी चिंतित हूं, जिन्हें अपनी आजादी छीने जाने का डर है।“ गौरतलब है कि अफगानिस्तान में पिछले महीने तालिबान के लड़ाकों ने सत्ता पर कब्जा कर लिया था और उसके बाद वहां से अमेरिकी सैनिकों की भी वापसी हो चुकी है। तालिबान अफगानिस्तान में नयी सरकार के गठन की तैयारी कर रहा है।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट