ताज़ा खबर
 

खूंखार तालिबान हमलावरों ने अधिकतर छात्रों के माथे में मारी थी गोली

हालिया वर्षों में बच्चों के खिलाफ सबसे नृशंस हमले में पेशावर के स्कूल में तालिबान आत्मघाती हमलावरों ने बेहद करीब से छात्रों पर अंधाधुंध गोलियां चलायी। अर्द्धसैनिक बल फ्रंटियर कॉर्प्स की वर्दी में आए हमलावरों ने कल वरसाक रोड पर आर्मी पब्लिक स्कूल में अंधाधुंध गोलियां चलायी जिसमें कम से कम 132 छात्र और नौ […]

Author Updated: December 17, 2014 4:45 PM

हालिया वर्षों में बच्चों के खिलाफ सबसे नृशंस हमले में पेशावर के स्कूल में तालिबान आत्मघाती हमलावरों ने बेहद करीब से छात्रों पर अंधाधुंध गोलियां चलायी।

अर्द्धसैनिक बल फ्रंटियर कॉर्प्स की वर्दी में आए हमलावरों ने कल वरसाक रोड पर आर्मी पब्लिक स्कूल में अंधाधुंध गोलियां चलायी जिसमें कम से कम 132 छात्र और नौ कर्मचारी मारे गए।

छात्रों के हवाले से ‘डॉन’ की खबर में बताया गया है कि हमलावर बगल में कब्रिस्तान की दीवार फांदकर आए और कक्षा तथा सभागार की ओर बढ़ते हुए अंधाधुंध गोलियां बरसाने लगे।

Pakistan Taliban Attack अर्द्धसैनिक बल फ्रंटियर कॉर्प्स की वर्दी में आए हमलावरों ने कल वरसाक रोड पर आर्मी पब्लिक स्कूल में अंधाधुंध गोलियां चलायी जिसमें कम से कम 132 छात्र और नौ कर्मचारी मारे गए। (फोटो: एपी)

 

 

खैबर-पख्तूनख्वा के सूचना मंत्री मुश्ताक अहमद गनी ने हमले के बारे में बताया, ‘‘अधिकतर छात्रों को गोलियां माथे में लगी है।’’

स्कूल बंद होने के वक्त अपने बच्चों को ले जाने के लिए इंतजार करने वाले अभिभावक अस्पताल के बाहर विलाप करते हुए नजर आए। शवों और घायल छात्रों को खून से सनी पोशाक में देखकर अभिभावक और रिश्तेदारों के अलावा अस्पताल आने वाला हर शख्स गमगीन दिख रहा था।

एक चश्मदीद ने कहा, ‘‘मैंने सीएमएच (कंबाइंड सैन्य अस्पताल) में 17 शव देखे और सभी के माथे पर गोलियां लगी थी।’’ कुछ शव तो बुरी तरह क्षत विक्षत थे।

Pakistan school students dead
एक चश्मदीद ने कहा, ‘‘मैंने सीएमएच (कंबाइंड सैन्य अस्पताल) में 17 शव देखे और सभी के माथे पर गोलियां लगी थी।’’ कुछ शव तो बुरी तरह क्षत विक्षत थे। (फोटो: एपी)

 

 

सातवीं के एक छात्र मोहम्मद जीशान ने ‘डॉन’ को बताया कि जब उसने गोलीबारी की आवाज सुनी, उस वक्त वह अपने अन्य साथियों के साथ स्कूल में प्राथमिक चिकित्सा का प्रशिक्षण ले रहा था।

उसने बताया, ‘‘मेरे प्रशिक्षक ने हमसे फर्श पर लेट जाने को कहा’’ और इसी बीच आतंकी हॉल में घुस आए।

जीशान ने बताया कि आतंकी छात्रों को बेहद करीब से माथे में गोलियां मारने लगे। उसने कहा, ‘‘उन लोगों ने हमारे सहपाठियों को मार डाला और फिर मुख्य हॉल से चले गए। मेरे पैर में एक गोली’ लगी।’

घायल हुए एक अन्य छात्र ने कहा कि आतंकवादियों ने कक्षाओं में छात्रों

पर गोलियां चलायी। उसने कहा, ‘‘उन लोगों ने हमारे शिक्षकों को भी मार डाला।’’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories