ताज़ा खबर
 

Corona Virus in China: कोरोना वायरस के मरीजों के लिए महज 10 दिनों में चीन ने बनाया दिया 1,000 बेड का अस्पताल

Corona Virus Outbreak in China: 23 जनवरी को इस अस्पताल की नींव की खुदाई शुरू हुई थी और 2 फरवरी को यह बनकर तैयार हो गया। सोमवार यानी 2 फरवरी से ही इसमें इलाज की व्यवस्था शुरू हो रही है।

Corona Virus Chinaखतरनाक होता जा रहा है कोरोना वायरस। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 360 से ज्यादा मौतों का सामना कर चुके चीन ने अब इसके खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। वायरस के संक्रमण का केंद्र माने जा रहे वुहान शहर को सील करने के साथ ही सरकार ने बचाव उपाय भी तेज किए हैं। इसी कड़ी में चीन ने महज 10 दिन के अंदर ही 1,000 बेड का अस्पताल तैयार कर दिया है।

इस अस्पताल में सेना के डॉक्टर इलाज करेंगे और इसे पूरी तरह से कोरोना वायरस के मरीजों के लिए ही तैयार किया गया है। चीनी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक हुओशेनशान अस्पताल में कुल 1,400 मेडिकल स्टाफ होंगे। इनमें से 950 लोग चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी से ही जुड़े हुए हैं।

23 जनवरी को इस अस्पताल की नींव की खुदाई शुरू हुई थी और 2 फरवरी को यह बनकर तैयार हो गया। सोमवार यानी 2 फरवरी से ही इसमें इलाज की व्यवस्था शुरू हो रही है। इस प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी संभालने वाली कंपनी थर्ड कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन के मैनेजर फांग ने कहा कि आमतौर पर इस तरह के काम को पूरा होने में दो साल तक का वक्त लगता है।

भारत और अमेरिका समेत 24 देश चपेट में: चीन में इस संक्रमण के चलते अब तक 361 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन के हुबेई प्रांत के वुहान शहर से शुरू हुए संक्रमण से पीड़ित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अमेरिकी में 9 और भारत में 2 मामलों समेत अब तक दुनिया भर के 24 देश इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इस संकट को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने महामारी करार दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रार्थना के दौरान चर्च में मची भगदड़ में 20 लोगों की मौत, बचने के लिए एक दूसरे को निर्दयता से कुचल रहे थे लोग
2 Corona Virus: चीन से आने वाले विदेशियों के लिए E-Visa पर रोक, पहले से जारी वीजा भी अब अवैध
3 Corona Virus: WHO ने वैश्विक स्वास्थ्य आपदा घोषित की, बीमारी ने 200 से ज्यादा लोगों की ली जान; ITBP ने की विशेष व्यवस्था