ताज़ा खबर
 

सीरिया में सूर्यास्त के साथ लागू होना है संघर्षविराम, लेकिन विपक्ष ने मांगी गारंटी

अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता के माध्यम से तय संघर्षविराम सूर्यास्त के साथ ही सीरिया में लागू होना है, लेकिन विपक्षी बलों ने अभी तक इसपर हस्ताक्षर नहीं किए हैं।

Author बेरूत | September 13, 2016 10:23 AM

अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता के माध्यम से तय संघर्षविराम सूर्यास्त के साथ ही सीरिया में लागू होना है, लेकिन विपक्षी बलों ने अभी तक इसपर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। इस समझौते की भंगुरता की स्थिति यह है कि सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद ने ‘‘आतंकवादियों’’ से पूरे देश को वापस लेने की कसम खायी है।

रूस और अमेरिका के बीच मैराथन वार्ता के बाद शुक्रवार को इस समझौते की घोषणा हुई थी। इसे सीरिया में पांच साल से चल रहे खूनी गृहयुद्ध को रोकने का सबसे अच्छा मौका माना जा रहा है। इस संघर्षविराम का लक्ष्य युद्ध पर अस्थाई रोक लगाने के साथ-साथ लाखों की संख्या में असैन्य नागरिकों को महत्वपूर्ण सहायता मुहैया कराना है।

शुरूआती समझौते के अनुसार, स्थानीय समयानुसार आज शाम सात बजे से संघर्षविराम 48 घंटे के लिए लागू होना था। इस दौरान इस्लामिक स्टेट सहित अन्य जिहादियों के कब्जे से मुक्त क्षेत्रों में युद्ध रोका जाना था। इसी दौरान लोगों तक मानवीय सहायता पहुंचायी जाएगी। विशेष रूप से अलेप्पो शहर में जहां सरकार और विद्रोहियों दोनों का नियंत्रण है। संघर्षविराम का प्रत्येक 48 घंटे में नवीनीकरण किया जाएगा। यदि यह एक सप्ताह तक चलता है तो मास्को और वाशिंगटन संयुक्त रूप से जिहादियों के खिलाफ अभियान चलाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App