ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में अंतरिम प्रधानमंत्री चुनने में विपक्ष नाकाम, मंगलवार को राष्ट्रपति ने बुलाया संसद सत्र

220 अरब रुपये के करप्शन केस में फंसे शाहिद अब्बासी को नवाज गुट ने बनाया पीएम उम्मीदवार।
Author July 31, 2017 21:15 pm
पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ को सुप्रीम कोर्ट द्वारा पीएम पद के लिए आजीवन अयोग्य ठहराने के बाद जश्न मनाते इमरान खान की पार्टी पीटीआई के कार्यकर्ता (फोटो-Reuters)

पाकिस्तान की सर्वोच्च न्यायालय द्वारा पनामागेट मामले में पीएम नवाज शरीफ को दोषी ठहराने और उनके इस्तीफे के बाद अंतरिम प्रधानमंत्री के चुनाव के लिए पाकिस्तान के विपक्षी सदस्य सोमवार को किसी एक उम्मीदवार के नाम पर सर्वसम्मति नहीं बना सके। डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, अंतरिम प्रधानमंत्री के चुनाव के लिए राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने मंगलवार को नेशनल एसेंबली का एक सत्र बुलाया है।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) द्वारा नामित शाहिद खकान अब्बासी ने सोमवार को संसदीय सचिव जवाद रफीक मलिक को अपना नामांकन पत्र सौंप दिया। अब्बासी वर्तमान में 220 अरब रुपये के भ्रष्टाचार के लिए नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो की जांच का सामना कर रहे हैं। पीएमएल-एन द्वारा सर्वसम्मति से चुने गए अब्बासी ने कहा कि निर्वाचित होने पर वह पद से हटाए गए प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की नीतियों को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।

विपक्ष किसी एक उम्मीदवार के नाम पर सर्वसम्मति बनाने में नाकाम रहा। प्रत्येक पार्टी ने विभिन्न उम्मीदवारों पर बल दे रहा है और उन्होंने अपना नामांकन पत्र भी सौंप दिया है। इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने अवामी मुस्लिम लीग (एएमएल) के नेता शेख रशीद का नाम आगे बढ़ाया, लेकिन पाकिस्तान मुस्लिम लीग-क्यू को छोड़कर किसी अन्य पार्टी ने उनका समर्थन नहीं किया। अवामी मुस्लिम लीग को पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने शुरू किया था।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने खुर्शीद शाह तथा नवीद कमर को नामित किया, जबकि मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट ने किश्वर जेहरा को चुना, वहीं जमात-ए-इस्लामी (जेआई) ने साहिबजादा तारिकुल्लाह के नाम का प्रस्ताव रखा। पीटीआई के नेता शेख कुरैशी तथा पीपीपी के खुर्शीद शाह ने उम्मीद जताई कि अंतरिम प्रधानमंत्री के चुनाव में पूर्व पेट्रोलियम मंत्री शाहिद खकान अब्बासी के मुकाबले खड़ा करने के लिए एक सर्वसम्मत उम्मीदवार चुनने के लिए विपक्षी पार्टियां अपना प्रयास जारी रखेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App