दक्षिण अफ्रीका: शिकार करने निकला था शख्स, शेरों ने बना डाला निवाला - suspected poacher got killed by lion in Kruger National Park South Africa Johannesburg world news - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दक्षिण अफ्रीका: शिकार करने निकला था शख्स, शेरों ने बना डाला निवाला

यह घटना लिम्पोपो प्रांत के उत्तरी इलाके होएड्सप्रूत में हुई है। यह इलाका पिछले कुछ सालों में जानवरों के अवैध शिकार के लिए कुख्यात हो गया है।

दक्षिण अफ्रीका के क्रूगर नेशनल पार्क में पाये जाने वाले शेर दुनिया भर के पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र हैं।

दक्षिण अफ्रीका के क्रूगर नेशनल पार्क में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक संदिग्ध शिकारी को शेरों ने ना सिर्फ मार डाला बल्कि उसे खा भी गये। शिकारी की हंटिंग लोडेड राइफल भी इस हमले में कुछ काम नहीं कर सकी। घटनास्थल के बगल में ही ये राइफल पड़ी मिली है। सोमवार (12 फरवरी) को पुलिस ने बताया कि पीड़ित के शरीर का बहुत कम ही हिस्सा घटनास्थल पर बचा है। पुलिस के मुताबिक बॉडी के अवशेष एक झाड़ी के पास, एक निजी गेम पार्क के पास मिले हैं। यह घटना लिम्पोपो प्रांत के उत्तरी इलाके होएड्सप्रूत में हुई है। यह इलाका पिछले कुछ सालों में जानवरों के अवैध शिकार के लिए कुख्यात हो गया है। लिम्पोपो के पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि ऐसा लगता है कि पीड़ित शिकार करने की कोशिश कर रहा था तभी शेरों ने उस पर हमला कर दिया और उसकी जान ले ली। पुलिस ने कहा कि शेर उसके शरीर का लगभग पूरा हिस्सा खा गये हैं, पीड़ित का सिर्फ सिर और कुछ दूसरा हिस्सा बचा है। पीटीआई के मुताबिक पुलिस हमले में मारे गये शख्स की पहचान करने की कोशिश कर रही है।

बता दें कि पिछले साल इसी प्रांत में शिकारियों ने कई शेरों को जहर दे दिया था, इसके बाद ये लोग शेर का सिर और पंजा काटकर ले गये थे। ऐसी मान्यता है कि शेरों के शरीर से कई दवाएं बनती है। इस इलाके में शिकारी गैंडे को भी निशाना बनाते हैं। बता दें कि चीन, वियतनाम और दूसरे दक्षिण एशियाई देशों में शेर और गैंडों के सिंग की बड़ी मात्रा में मांग है।  इस मांग को पूरा करने के लिए भारत, दक्षिण अफ्रीका में शेर, बाध और गैंडों का शिकार किया जाता है। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका का क्रूगर पार्क प्राकृतिक जैव विविधता का खजाना है। यहां के शेर, भैंस, हाथी और गैंड को सहज प्राकृतिक वातावरण में देखने के लिए दुनिया भर से लोग आते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App