ताज़ा खबर
 

लगी ऐसी अजीब बीमारी कि मॉडर्न घर छोड़ कर झोपड़ी में रहने लगा कपल

जानकारों के अनुसार, 'मल्टिपल केमिकल सेंसेटिविटी' की समस्या किसी भी उम्र के लोगों को जकड़ सकती है। ब्रिटेन में इसके काफी मामले सामने आए हैं। पीड़ितों का दावा है कि उन्हें शैंपू से लेकर वाई-फाई तक सभी भौतिक चीजों से एलर्जी महसूस होती है।

इंग्लैंड के डेवान जिले में एक दंपति लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल ये दंपति एक बड़े ही अजीब कारण से सुख सुविधाओं वाली आलीशान जिंदगी छोड़कर एक छोटी सी झोपड़ी में अपनी जिदगी केदिन काट रहा है। इस झोपड़ी में बिजली पानी जैसी मूलभूत चीजें भी नहीं हैं। लेकिन इसके बावजूद भी ये लोग बेहद खुश हैं। इनके ऐसा करने के पीछे एक चौंकाने वाला कारण है।

इस दंपति का नाम है एलन और केट बरो। केट एक बहुत ही अजीब बीमारी की चपेट में हैं। उनका कहना है कि उन्हें आजकल के मॉडर्न घर व रोजमर्रा की चीजों से सी एलर्जी हो गई थी इसलिए वह पति के साथ झोपड़ी में आकर बस गईं। इन दोनों को इस झओपड़ी में रहते हुए लगभग 20 महीने हो गए हैं। स्थानीय प्रशासन ने उनकी इस झोपड़ी को अवैध करार दिया है।

केट की समस्या इतनी भयानक है कि उसे रोजाना इस्तेमाल करने वाली साधरण सी चीजों से भी जैसे शैंपू, साबुन आदि से भी एलर्जी हो गई हा। कोट के अनुसार उन्हें इन चाजों और उसके केमिकल्स से दिक्कतें होना शुरू हो गई थीं। इन सभी के बीच रहकर वह लगभग रोजाना बीमार रहती थीं।

अपनी रोज की दिक्कतों से छुटकारा पाने के लिए केट ने शहरी सुख सुविधा की जिंदगी छोड़कर झोपड़ी में रहने का मन बना लिया। उनके इश फैसले का उनके पति एलन ने भी पूरा समर्थन किया। झोपड़ा में रहने के बाद केट का दावा है कि यहां के प्राकृतिक वातावरण के बीच उनकी सेहत में सुधार भी हुआ है।

इस झोपड़ी में न तो बिजली की व्यवस्था है और ना ही पानी की। यहां ऑइल बर्नर, सोलर पैनल ही ऊर्जा के विकल्प हैं। दोनों ने लकड़ी, मिट्टी आदि चीजों से छह सप्ताह में घर का निर्माण पूरा किया। केट ने घर के बाहर ही सब्जियां लगा रखी हैं और कई पालतू जानवर भी रखे हैं। हालांकि नॉर्थ डेवॉन परिषद के अनुसार, यह घर नियमों के मुताबिक नहीं बना है और इसे तोड़ देना चाहिए।

अपने इस घर को बचाने के लिए एलन और केट ने कानूनी लड़ाई भी शुरू कर दी है। जानकारों के अनुसार, ‘मल्टिपल केमिकल सेंसेटिविटी’ की समस्या किसी भी उम्र के लोगों को जकड़ सकती है। ब्रिटेन में इसके काफी मामले सामने आए हैं। पीड़ितों का दावा है कि उन्हें शैंपू से लेकर वाई-फाई तक सभी भौतिक चीजों से एलर्जी महसूस होती है। इस समस्या से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता पर असर पड़ता है। विशेषज्ञों ने इसका प्रमुख कारण तनाव बताया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डोनाल्ड ट्रंप ने नहीं मिलाया एंजेला मार्केल से हाथ, गुजारिश करती रहीं जर्मन चांसलर, देखिए वीडियो
2 मुस्लिम ब्रदरहुड से रिश्‍ते रखने के आरोपी, 20 लाख ट्विटर फॉलोअर्स वाले मौलाना अवाद अल-करनी पर कोर्ट ने कसा शिकंजा
3 दुनिया का सबसे अच्‍छा देश नहीं है अमेरिका, उससे बेहतर हैं 6 देश, देखिए लिस्‍ट
यह पढ़ा क्या?
X