ताज़ा खबर
 

इंडोनेशिया: उड़ान भरने के चंद मिनट बाद विमान का संपर्क टूटा, 62 यात्री थे सवार, मचा हड़कंप

एयरलाइन की ओर से जारी बयान के मुताबिक विमान ने जकार्ता से पोंटियनाक के लिए उड़ान भरी थी जो इंडोनेशिया के बोर्नियो द्वीप स्थत पश्चिम कालीमंतन प्रांत की राजधानी है।

Indonesia’s capital international newsखबर लिखे जाने तक विमान से संपर्क नहीं जुड़ पाया है। (Source: Markus Mainka/picture alliance)

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता से उड़ान भरने के चंद मिनट बाद श्रीविजय एयर के यात्री विमान का हवाई यातायात नियंत्रक से संपर्क टूटने के बाद हड़कंप मच गया। घरेलू उड़ान भर रहे इस विमान में 62 लोग सवार थे। शनिवार को संबंधित अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इंडोनेशिया के परिवहन मंत्रालय के प्रवक्ता अदिता इरावती ने कहा कि बोइंग 737-500 विमान ने दोपहर करीब 1:56 बजे जकार्ता से उड़ान भरी और करीब 2:40 बजे इसका संपर्क नियंत्रण टावर से टूट गया।

एयरलाइन की ओर से जारी बयान के मुताबिक विमान ने जकार्ता से पोंटियनाक के लिए उड़ान भरी थी जो इंडोनेशिया के बोर्नियो द्वीप स्थत पश्चिम कालीमंतन प्रांत की राजधानी है। इस उड़ान की अवधि करीब 90 मिनट थी। इस विमान पर 56 यात्रियों के अलावा चालक दल के छह सदस्य सवार थे।

इरावती ने एक बयान में कहा, ‘राष्ट्रीय खोज एवं बचाव एजेंसी और राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा समिति के साथ समन्वय स्थापित कर लापता विमान की तलाश की जा रही है।’ जकार्ता से पोंटियनाक जाने वाले विमान की अधिकतर यात्रा जावा समुद्र के ऊपर से ही गुजरती है। अब तक लापता विमान के बारे में कोई सुराग नहीं मिल सका है।

स्थानीय मीडिया ने बताया कि आज दोपहर बाद मछुआरों को जकार्ता के उत्तर में द्वीपों पर धातुओं की चीजें दिखीं, जिन्हें विमान का हिस्सा माना जा रहा है। टीवी फुटेज में विमान में सवार लोगों के रिश्तेदार और दोस्तों को रोते देखा गया है। फुटेज में लोग जकार्ता एयरपोर्ट और पोंटियानक्स एयरपोर्ट लोग अपनों के इंतजार में खड़े हैं।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अक्टूबर 2018 में लॉयन एयर द्वारा संचालित एक बोइंग 737 MAX 8 जेट जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ ही मिनटों बाद जावा सागर में गिर गया। इस दुर्घटना में सभी 189 लोग मारे गए थे। इससे पहले इंडोनेशिया में 1997 के विमान हादसे में 234 लोग मारे गए थे। (एजेंसी इनपुट)

Next Stories
1 उत्तर कोरिया ने और परमाणु हथियार बनने की चेतावनी दी, अमेरिका की शत्रुता का हवाला दिया
2 डोनाल्ड ट्रंप बोले- मुझे चुप नहीं कराया जा सकता, जो बाइडन ने बताया अमेरिकी इतिहास का सबसे बुरा राष्ट्रपति
3 आतंकवाद वित्तपोषण मामले में लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर लखवी को 15 साल की सजा
ये पढ़ा क्या?
X