ताज़ा खबर
 
title-bar

श्रीलंका सीरियल ब्लास्टः कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली धमाकों की जिम्मेदारी, 321 लोगों की गई थीं जान

Sri Lanka Serial Blasts: इससे पहले, पहले श्रीलंका के उप-रक्षा मंत्री ने कहा था कि आंतरिक जांच से पता चलता है कि इन हमलों को क्राइस्ट चर्च हमले के प्रतिशोध के रूप में अंजाम दिया गया।

कोलंबो में रविवार को धमाके के बाद मुर्दा घर के बाद विलाप करते हुए पीड़ित परिजन। (फोटोः एपी)

Sri Lanka Serial Blasts: श्रीलंका में ईस्टर पर हुए सीरियल धमाकों की जिम्मेदारी कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ले ली है। मंगलवार (23 अप्रैल, 2019) को आईएस ने अपनी न्यूज एजेंसी अमाक के जरिए इस चीज की पुष्टि की। बता दें कि रविवार (21 अप्रैल, 2019) को वहां के गिरजाघरों और होटलों में हुए इन धमाकों में तकरीबन 321 लोगों की जान चली गई थी।

आईएस के जिम्मेदारी लेने से पहले श्रीलंका के उप-रक्षा मंत्री ने कहा था कि आंतरिक जांच से पता चलता है कि इन हमलों को क्राइस्ट चर्च हमले के प्रतिशोध के रूप में अंजाम दिया गया। उनके मुताबिक, दो इस्लामिक चरमपंथी समूहों ने उन हमलों को अंजाम दिया था। हालांकि, मंत्री ने इस दावे पर कोई सबूत नहीं दिया।

दरअसल, न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदं में गोलीबारी के दौरान 50 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि उस हमले की जिम्मेदारी एक कट्टरपंथी दक्षिणपंथी संगठन ने ली थी। उप रक्षा मंत्री रुवान विजयवर्धने के बयान के मुताबिक, “संसदीय जांच में मालूम चला है कि रविवार को श्रीलंका में हुए आठ धमाके, क्राइस्टचर्च में मुस्लिमों पर हुए हमले का बदला लेने के लिए किए गए।”

‘सिथाया टीवी’ के हवाले से ‘एएनआई’ ने घटना से जुड़ी एक वीडियो क्लिप भी साझा की। बताया गया कि इसी फुटेज में संदिग्ध सुसाइड बम हमलावर रविवार को ईस्टर के मौके पर सेंट सेबेस्टियन चर्च में आते दिखा था। देखें वीडियोः

वहीं, पुलिस सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी एएफपी ने बताया कि श्रीलंका के एक होटल में चौथा पूर्व नियोजित हमला विफल कर दिया गया।

उधर, पीएम रनिल विक्रमसंघे बोले, “मुझे डर है कि इस नरसंहार के बाद देश की स्थिति कहीं अस्थिर न हो जाए। ऐसी हिमाकत (हमले) करने वालों को करारा जवाब देने के लिए हमने सैन्य बलों को हर किस्म की छूट दे दी है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App