South Korean court sentences former president Park Geun-hye to 8 more years in prison - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दक्षिण कोरिया में उठी पूर्व राष्ट्रपति को 30 साल कारावास की सजा देने की मांग

दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून हे को भ्रष्टाचार के मामले में अभियोजन पक्ष ने शुक्रवार को सियोल की एक अपीलीय अदालत से 30 साल की सजा देने की मांग की है।

दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून हे को भ्रष्टाचार के मामले में अभियोजन पक्ष ने शुक्रवार को सियोल की एक अपीलीय अदालत से 30 साल की सजा देने की मांग की है। (फोटो-रॉयटर्स)

दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून हे को भ्रष्टाचार के मामले में अभियोजन पक्ष ने शुक्रवार को सियोल की एक अपीलीय अदालत से 30 साल की सजा देने की मांग की है। पार्क ग्यून हे को भ्रष्टाचार के मामले में महाभियोग लगाकर राष्ट्रपति पद से हटाया गया था। समाचार एजेंसी ‘सिन्हुआ’ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्हें छह अप्रैल को दक्षिण कोरिया की एक अदालत ने 24 साल की सजा सुनाई थी। अभियोजकों ने पार्क पर 10.4 करोड़ डॉलर का जुर्माना भी लगाने की मांग की। इससे पहले अदालत ने उन पर 1.6 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया था।  पार्क पर आरोप था कि उन्होंने लंबे समय तक उनके विश्वस्त रहे चोई सून सिल की मिलीभगत से सैमसंग समेत बड़े व्यापारिक समूहों पर चोई के नियंत्रण वाली एक संस्था को 6.82 करोड़ डॉलर दान देने क लिए दबाव बनाया था।

उनके ऊपर सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के वाइस चेयरमैल ली जेई-योग को उनके बीमार पिता और कंपनी के चेयरमैन ली कुन ही से कंपनी का प्रबंधन हासिल करने में मदद करने के बदले उनसे 3.82 करोड़ डॉलर का रिश्वत लेने का भी आरोप है। पार्क अक्टूबर 2017 से अदालत में पेश नहीं हुई हैं और उन्होंने मुकदमे की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया है। आगे फैसला 24 अगस्त को आ सकता है।

गौरतलब है कि पिछले साल मार्च में उन्हें गिरफ्तार किया किया गया था। अदालत के एक प्रवक्ता ने बताया कि पार्क को भ्रष्टाचार और सत्ता के दुरूपयोग मामले में गिरफ्तार किया गया था। इसी मामले की वजह से पार्क को राष्ट्रपति पद से भी बर्खास्‍त किया गया था। उन पर सोल सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने रिश्वत लेने, अधिकारों का दुरूपयोग करने, बलप्रयोग और गोपनीय सरकारी जानकारियां लीक करने के आरोप में पार्क के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App