scorecardresearch

दक्षिण कोरिया की सीमा में घुसे रूस और चीन के लड़ाकू विमान और चलाई गोलियां

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि रूस के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार तड़के देश के पूर्वी हिस्से में प्रवेश किया। मंत्रालय ने कहा कि दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों ने भी उड़ान भरी और चेतावनी के लिए रूसी विमानों पर गोलियां चलायीं।

मंगलवार को ही चीन और रूस के लड़ाकू विमानों ने साउथ कोरिया की सीमान में चलाईं गोलियां

दक्षिण कोरिया का कहना है कि उसने देश की हवाई सीमा में घुस आए रूसी लड़ाकू विमानों को चेतावनी देते हुए उनपर गोलियां चलायीं। वहीं रूस ने दावा किया है कि उसने हवाई सीमा का किसी तरह का कोई उल्लंघन नहीं किया है। दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि रूस के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार (23 जुलाई) तड़के देश के पूर्वी हिस्से में प्रवेश किया। मंत्रालय ने कहा कि दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों ने भी उड़ान भरी और चेतावनी के लिए रूसी विमानों पर गोलियां चलायीं। उसका कहना है कि मंगलवार को ही चीन के लड़ाकू विमानों ने भी देश की हवाई सीमा का उल्लंघन किया।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार चुंग ईई-योंग ने रूस के सुरक्षा सचिव को एक संदेश में ऐसा दोबारा होने पर गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी। योंग ने कहा, ‘‘ हम इस घटना का बारीकी से आकलन कर रहे हैं और अगर ऐसा दोबारा होता है तो और भी कड़े कदम उठाए जाएंगे।’’ दूसरी ओर, मॉस्को ने हवाई सीमा लांघने के इन आरोपों को खारिज करते हुए कि उसके विमानों ने अंतरराष्ट्रीय समुद्र पर नियोजित अभ्यास किया।

रूस के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि रूस के दो टीयू-95 सामरिक बमवर्षकों ने जापान सागर पर नियोजित अभ्यास किया, जहां अभ्यास किया गया वह किसी भी देश का अधिकार क्षेत्र नहीं है। बताया जा रहा है कि यह पहली ऐसी घटना है जिसमें रूसी लड़ाकू विमानों ने उनके देश की वायु सीमा का उल्लंघन कर दक्षिण कोरिया में घुसपैठ की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रूस के 3 और चीन के 2 लड़ाकू विमानों ने दक्षिण कोरिया की वायुसीमा का उल्लंघन किया है। हालांकि भी तक इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि ऐसा करने के पीछे आखिर वजह क्या रही है। हालांकि दक्षिण कोरिया दोनों देश की वायुसेना के अधिकारियों को दोबारा ऐसा न करने की कड़ी चेतावनी दी है।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.