ताज़ा खबर
 

युद्ध की स्थिति में उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन को मारने के लिए सैनिकों को ट्रेनिंग दे रहा दक्षिण कोरिया

रिपोर्ट के अनुसार ये सैन्य इकाई युद्ध होने पर उत्तर कोरिया के प्रमुख नेताओं को मारकर वहां के सैन्य कमांड को अस्त-वयस्त करने की कोशिश करेगी।

America, Uttar Korea, Nuclear Weapons, Confusion of USA, America Should Come Out, Leave Nuclear Weapons, Uttat Korea Will Leave, Uttar Korea Says, Uttar Korea on Nuclear Weapons, International Newsउत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग-उन (फाइल फोटो)

ब्रिटिश अखबार टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण कोरिया अपने पड़ोसी देश उत्तर कोरिया से युद्ध होने की स्थिति में वहां के तानाशाह किम जोंग-उन समेत तमाम बड़े नेताओं की हत्या करने के लिए एक विशेष सैन्य इकाई का निर्माण कर रहा है। रिपोर्ट के अनुसार ये सैन्य इकाई युद्ध होने पर उत्तर कोरिया के प्रमुख नेताओं को मारकर वहां के सैन्य कमांड को अस्त-वयस्त करने की कोशिश करेगी ताकि वो व्यापक विनाश के हथियार का इस्तेमाल न कर सकें।

दक्षिण कोरिया युद्ध की स्थिति में किंम जोंग-उन एवं अन्य उत्तर कोरियाई नेताओं के लिए इस सैन्य इकाई को विशेष प्रशिक्षण दे रहा है। इस इकाई के निशाने पर होंगे राजनेताओं के अलावा उत्तर कोरिया के बड़े सैन्य अफसर भी होंगे। इस इकाई पर युद्ध के दौरान उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग स्थित योंगबाईओन परमाणु संयत्र और मिसाइल लॉन्च  केंद्र पर कब्जा करने का भी जिम्मा होगा। उत्तर कोरिया का मोबाइल मिसाइल लॉन्च सेंटर दक्षिण कोरिया की चिंता की बड़ी वजह रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण कोरिया इस साल के अंत तक ये सैन्य इकाई तैयार कर लेगा।  दक्षिण कोरिया के सैन्य प्रमुख ने देश के रक्षा मंत्री ने बताया कि इस विशेष यूनिट का गठन तय समय से दो साल पहले पूरा हो जाएगा। कोरियाई सेना के प्रमुख जांग जुन-क्यू ने कहा कि उनकी सेना “उत्तरी कोरिया के उकसावों का जवाब देने के लिए तैयार रहेगी।” अपने इस मकसद को पूरा करने के लिए दक्षिण कोरिया को अत्याधुनिक उपकरणों और सैन्य साजोसामान की जरूरत होगी। दक्षिण कोरिया को बोइंग एमएच-47 चिनूक हेलीकॉप्टर, अत्याधुनिक छोटे हथियार और सैटेलाइट से जुड़े संचार उपकरणों की जरूरत होगी।

जांग ने कहा कि दक्षिण कोरियाई सेना की विशेष ऑपरेशन यूनिट उत्तर कोरिया में घुसकर विशेष मिशन पूरा करके सकुशल वापस आने में सक्षम होगी। दक्षिण कोरियाई सैन्य प्रमुख ने कहा कि वो सी-130 हर्क्यूलिस ट्रांसपोर्टर और दूसरे ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट को भी बढ़ाएगा। माना जा रहा है कि दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया द्वारा किए गए लंबी दूरी के मिसाइल के किए गए परीक्षण के बाद इस योजना में तेजी लाने का फैसला किया है। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति भवन तक मार करने वाली मिसाइल के परीक्षण की खुद निगरानी की थी। इसका उत्तर कोरियाई टीवी पर सजीव प्रसारण किया गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन ने मसूद अजहर पर अपने रुख को जायज ठहराया, दोहरे मापदंड से किया इनकार
2 नवाज़ शरीफ़ ने अलापा कश्मीर राग, बुरहान वानी को बताया ‘करिश्माई नेता’
3 डोनाल्ड ट्रंप ने संराष्ट्र प्रमुख गुटेरेस से फोन पर की बात, आपसी संबंधों पर हुई चर्चा
ये पढ़ा क्या?
X