ताज़ा खबर
 

अंतरराष्ट्रीय ट्रिब्यूनल के दक्षिण चीन सागर पर फैसले के लिए चीन को बनाया जाए जवाबदेह: अमेरिका

चीन के खिलाफ फिलिपीन के कानूनी मामले को देख रही स्थायी मध्यस्थता अदालत के न्यायाधिकरण ने हाल ही में यह घोषणा की है कि वह 12 जुलाई को अपना फैसला देगी।

Author वॉशिंगटन | July 9, 2016 2:42 PM
दक्षिण चीन सागर पर फिलीपीन का दावा रहा है और वह अमेरिका एवं अन्य देशों से इस संबंध में तुरंत ‘कार्रवाई’ चाहता है। (AP Photo/Hau Dinh)

अमेरिका ने कहा है कि फिलिपीन के साथ दक्षिण चीन सागर विवाद पर अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के अगले हफ्ते आने वाले आदेश पर चीन को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए। अमेरिका ने दोनों देशों को अपने दायित्वों का पालन करने का सुझाव दिया है।दैनिक संवाददाता सम्मेलन में शुक्रवार (8 जुलाई) को विदेश विभाग के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने पत्रकारों से कहा, ‘दक्षिणी चीन सागर में विवादों के शांतिपूर्ण हल के लिए मध्यस्थता जैसे अंतरराष्ट्रीय कानूनी उपायों के इस्तेमाल का हम समर्थन करते हैं।’

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘सागर समझौता कानून के तहत इस मामले में दोनों पक्ष न्यायाधिकरण का निर्णय मानने के लिए बाध्य होंगे। हम उम्मीद करते हैं कि दोनों पक्ष अपनी बात पर कायम रहेंगे और संयम बरतेंगे।’ उन्होंने कहा कि अमेरिका ने चीन को साफ बता दिया है कि वह क्या चाहता है। एशिया-प्रशांत पर एक उप समिति के अध्यक्ष मैट सेलमन ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय कानूनों को नहीं मानते हुए दक्षिण चीन सागर क्षेत्र में चीन की आक्रामक और बल प्रयोग करने जैसी गतिविधियों के चलते पनपे खौफ की गंभीरता से ओबामा प्रशासन समेत दुनियाभर में उनके समकक्ष वाकिफ हैं।

उन्होंने कहा, ‘हमारे राष्ट्रपति और विदेश मंत्री अंतरराष्ट्रीय विवाद के बिंदुओं में दक्षिण चीन सागर को नियमित तौर पर शामिल करते हैं और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग समेत अपने चीनी समकक्षों के सामने उच्चतम स्तर पर इस मुद्दे को उठाते हैं।’ चीन के खिलाफ फिलिपीन के कानूनी मामले को देख रही स्थायी मध्यस्थता अदालत के न्यायाधिकरण ने हाल ही में यह घोषणा की है कि वह 12 जुलाई को अपना फैसला देगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App