ताज़ा खबर
 

सोमालिया में अब तक का सबसे बड़ा बम धमाका, 276 की मौत और 300 घायल

सोमालिया सरकार ने हमले को राष्ट्रीय आपदा करार देते हुए अल-कायदा से जुड़े चरमपंथी गुट अल-शबाब को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया।

Author नई दिल्ली | October 16, 2017 1:41 PM
मृतकों की संख्या में अभी और बढ़ोतरी हो सकती है। (Source: AP)

सोमालिया की राजधानी में हुए अभी तक के सबसे शक्तिशाली विस्फोट में 276 लोग मारे गए हैं और करीब 300 अन्य लोग घायल हो गए हैं। देश के सूचना मंत्री ने सोमवार को यह जानकारी दी। मृतकों की संख्या में अभी और बढ़ोतरी हो सकती है। एक ट्वीट में सोमालियाई नेता अब्दीरहमान उस्­मान ने हमले को बर्बर करार दिया है। उन्होंने बताया कि तुर्की और केन्या सहित कई देशों ने चिकित्सा सहायता की पेशकेश की है। विदेश मंत्रालय सहित महत्वपूर्ण मंत्रालयों के निकट व्यस्त चौराहे को निशाना बनाकर किए गए ट्रक बम विस्फोट के बाद अस्पतालों में भारी भीड़ लग गई है।

विस्फोट स्थल पर बड़ी संख्या में गुस्साए लोग एकत्रित हुए। सोमालिया सरकार ने हमले को राष्ट्रीय आपदा करार देते हुए अल-कायदा से जुड़े चरमपंथी गुट अल-शबाब को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया। अफ्रीका का यह घातक चरमपंथी समूह पहले भी कई बार राजधानी के महत्वपूर्ण क्षेत्रों को निशाना बना चुका है। बहरहाल, अभी तक हमले को लेकर उसने कोई टिप्पणी नहीं की है। ट्रंप प्रशासन और नवनिर्वाचित सोमालियाई राष्ट्रपति के प्रशासन ने इस साल के शुरू में अल-शबाब के खिलाफ सैन्य कार्रवाई तेज करने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद अल-शबाब ने अपने हमले तेज करने का संकल्प जाहिर किया था।

सोमालिया में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत माइकल कीटिंग ने इस हमले की निंदा की है। इसके साथ ही साथ अमेरिका, लंदन और फ्रांस के नेताओं ने सोमालिया आत्मघाती हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कडे़ शब्दों में हमले की निंदा की। अमेरिका ने अपने बयान में कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में वाशिंगटन सोमालिया सरकार, वहां के लोगों और अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों के साथ बना रहेगा। हम शांति, सुरक्षा और समृद्धि हासिल करने के उनके प्रयासों का समर्थन करते रहेंगे।

ब्रिटिश विदेश सचिव बोरिस जॉनसन ने कहा कि उनका देश कड़े शब्दों में मोगादिशू में हुए कायरतापूर्ण हमले की निंदा करता है, जिसमें कई मासूमों ने अपनी जान गवांई है। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैलुएल मैक्रों ने ट्वीट किया कि सोमालिया के साथ एकजुटता से खड़े हैं। इस्लामिक आतंकवादी समूहों के खिलाफ अफ्रीकी संघ का समर्थन करते हैं। फ्रांस आपके साथ खड़ा है। अफ्रीकी संघ आयोग के अध्यक्ष मुसा फाकी महमत ने सरकार से इस नाजुक स्थिति में नए सिरे से एकता दिखाने और संघीय संस्थानों के सभी स्तरों फिर से एकजुटता स्थापित करने तथा विभाजनों पर काबू पाने की अपील की है।

पुलिस अधिकारी इब्राहिम मोहम्मद ने एएफपी को बताया कि मृतकों की संख्या में अभी बढ़ोतरी हो सकती है क्योंकि हमले में 300 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं, जिनमें से कुछ की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। उन्होंने विस्फोट को अभी तक का सबसे घातक हमला करार दिया है। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन के प्रवक्ता इब्राहिम कलीन ने कहा कि अंकारा चिकित्सीय आपूर्तियों के साथ वहां विमान भेज रहा है। उन्होंने बताया कि घायलों को इलाज के लिए तुर्की भी लाया जाएगा। हमले की अभी तक किसी ने कोई जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन अल-कायदा से जुड़ा आतंकी गुट अलशबाब सोमालिया को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पीछे धकेलने के लिए वहां दर्जनों आत्मघाती हमले करता रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App