ताज़ा खबर
 

सोलर इम्पल्स ने विश्व यात्रा के अंतिम चरण में मिस्र के लिए भरी उड़ान

इस विमान की 35,000 किलोमीटर की यात्रा के लिए विमान को पायलट पिकार्ड तथा स्विस उद्यमी एंड्रे बॉर्शबर्ग बारी-बारी से उड़ा रहे हैं।

Author काहिरा | July 24, 2016 3:39 PM
गीजा के पिरामिडों के ऊपर से गुजरता सौर ऊर्जा चालित विमान ‘सौर इंपल्स 2’ (Jean Revillard/SI2/Handout via Reuters)

दुनिया की यात्रा करने वाले, सौर ऊर्जा चालित पहले विमान ने रविवार (24 जुलाई) को अपनी अंतिम चरण की यात्रा के लिए काहिरा से अबू धाबी के लिए उड़ान भरी। सोलर इम्पल्स दो विमान को स्विस पायलट बरट्रैंड पिकार्ड उड़ा रहे हैं। यह विमान कई दिनों तक सिर्फ सूर्य की ऊर्जा से उड़ान भर सकता है। उड़ान पर रवाना होने से पहले पिकार्ड ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह ऊर्जा, बेहतर दुनिया के लिए परियोजना है।’

इस विमान की 35,000 किलोमीटर की यात्रा के लिए विमान को पायलट पिकार्ड तथा स्विस उद्यमी एंड्रे बॉर्शबर्ग बारी-बारी से उड़ा रहे हैं। बॉर्शबर्ग ने नागोया, जापान तथा हवाई के बीच 4,000 मील की यात्रा के दौरान विमान के पायलट की भूमिका निभाई। सौर इम्पल्स स्पेन से दो दिन की उड़ान पूरी करने के बाद काहिरा पहुंचा था। इसने 3,745 किलोमीटर की उड़ान 76.7 किलोमीटर प्रति घंटे की औसत रफ्तार से पूरी की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App