ताज़ा खबर
 

वीजा के लिए लागू हुई नई नीति, देनी होगी सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी

अब तक इस ड्रॉप डाउन मेनू में केवल बड़े सोशल मीडिया वेबसाइटों की जानकारी होती थी, लेकिन अब इसमें आवेदकों के लिए, इस्तेमाल की जाने वाली सभी साइटों की जानकारी देने की सुविधा उपलब्ध होगी।

Author Published on: June 3, 2019 4:32 AM
नीति मार्च 2017 में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जारी एक शासनादेश के तहत बनाई गई है।

अब अमेरिका जाने वाले नागरिकों की बारीकी से जांच की जाएगी। इसके लिए शनिवार से एक नई नीति अपनाई जा रही है। अमेरिका में विदेशी नागरिकों के प्रवेश की बारीकी से जांच के लिए अपनाई नीति के तहत लगभग सभी वीजा आवेदकों को उनके सोशल मीडिया अकाउंट के बारे में भी जानकारी देनी होगी ताकि आतंकवादियों और अन्य खतरनाक लोगों को अमेरिका में प्रवेश से रोका जा सके।

विदेश विभाग ने शनिवार को एक नई नीति अपनाई जिसके तहत अस्थायी आगंतुकों समेत सभी वीजा आवेदकों को अन्य जानकारी के साथ साथ एक ड्रॉप डाउन मेनू में अपने सोशल मीडिया अकाउंट के बारे में बताना होगा। सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करने वाले आवेदकों के पास इसमें एक अन्य विकल्प मौजूद होगा, जिससे वह यह बता सकेंगे कि वह इनका इस्तेमाल नहीं करते हैं। अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने हिल टीवी को बताया कि अगर वीजा आवेदक सोशल मीडिया इस्तेमाल के बारे में झूठ बोलता है तो उसे ‘गंभीर आव्रजन परिणाम’ भुगतने होंगे।

अब तक इस ड्रॉप डाउन मेनू में केवल बड़े सोशल मीडिया वेबसाइटों की जानकारी होती थी, लेकिन अब इसमें आवेदकों के लिए, इस्तेमाल की जाने वाली सभी साइटों की जानकारी देने की सुविधा उपलब्ध होगी। एक अधिकारी ने हिल टीवी को बताया, ‘यह संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रवेश के लिए आवेदन करने वाले सभी विदेशी नागरिकों की बारीकी से जांच के उद्देश्य से एक महत्वपूर्ण कदम है।’

अधिकारी ने बताया, ‘हाल के वर्षों में जैसा हम लोगों ने दुनिया भर में देखा है कि आतंकवादी भावनाओं और गतिविधियों के लिए सोशल मीडिया एक बड़ा मंच बन सकता है। यह आतंकवादियों, जन सुरक्षा के खतरे और अन्य खतरनाक गतिविधियों की पहचान करने का एक उपकरण साबित होगा। इससे ऐसे लोगों को न तो आव्रजन लाभ मिलेगा और न ही अमेरिकी धरती पर पैर जमाने की सुविधा होगी।’ यह नीति मार्च 2017 में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जारी एक शासनादेश के तहत बनाई गई है। विदेश मंत्रालय ने मार्च 2018 में नीति के कार्यान्वयन का इरादा जाहिर कर दिया था।

सभी वीजा आवेदकों पर लागू

विदेश विभाग ने एक नई नीति अपनाई जिसके तहत अस्थायी आगंतुकों समेत सभी वीजा आवेदकों को अन्य जानकारी के साथ साथ एक ड्रॉप डाउन मेनू में अपने सोशल मीडिया अकाउंट के बारे में बताना होगा। इसका इस्तेमाल नहीं करने वाले आवेदकों के पास एक विकल्प मौजूद होगा, जिसमें वह यह बता सकेंगे कि वह इनका इस्तेमाल नहीं करते हैं। अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि अगर आवेदक सोशल मीडिया इस्तेमाल के बारे में झूठ बोलता है तो उसे ‘गंभीर आव्रजन परिणाम’ भुगतने होंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारतीय उच्चायोग की इफ्तार पार्टी में पाकिस्तानी एजंसियों का शर्मनाक रवैया, हुई बदसलूकी
2 Trending Story: पिता ने बेटे का खत पढ़ा तो 2 साल की जेल
3 महिलाओं को दफ्तर में स्कर्ट पहनने पर ज्यादा पैसे देने का ऑफर! निशाने पर यह कंपनी