ताज़ा खबर
 

सिंगापुर: ‘राजद्रोह’ के आरोप में 12 सप्ताह की गर्भवती संपादक को जेल

‘द रीयल सिंगापुर’ (टीआरएस) की मुख्य संपादक आई ताकागी (23) ने जेल की सजा पर जाने से पहले शनिवार (22 अप्रैल) को स्टेट कोर्ट में आत्मसमर्पण किया।

Author सिंगापुर | April 23, 2016 20:34 pm
गुजरात की जेलों में 240 मुस्लिम बंदी हिरासत में हैं। इसके बाद 846 दोषी और 1724 अंडरट्रायल हैं।

सिंगापुर में एक वेबसाइट की संपादक को ‘‘विदेशियों की खिलाफ नफरत भड़काने की भावना से प्रेरित लेख’’ प्रकाशित करने के लिए 10 महीने जेल की सजा सुनाई गई है। ‘द स्ट्रेट टाइम्स’ में शनिवार (22 अप्रैल) को प्रकाशित खबर के अनुसार, 12 सप्ताह की गर्भवती और सामाजिक-राजनीतिक विषयों पर आधारित वेबसाइट ‘द रीयल सिंगापुर’ (टीआरएस) की मुख्य संपादक आई ताकागी (23) ने जेल की सजा पर जाने से पहले शनिवार (22 अप्रैल) को स्टेट कोर्ट में आत्मसमर्पण किया।

पिछले महीने इस संबंध में अपना गुनाह कबूल करने के बाद उसे राजद्रोह का दोषी पाया गया। अदालत ने टीआरएस की ओर से प्रकाशित लेख को ‘‘सिंगापुर में विदेशियों के खिलाफ नफरत पैदा करने वाली भावना’’ से प्रेरित पाते हुए संपादक को 10 महीने की जेल की सजा सुनाई।

जापानी मूल की ऑस्ट्रेलियाई ताकागी ने अदालत को बताया कि सिंगापुर वासियों को बिना किसी भय के अपनी बात रखने के लिए मंच मुहैया कराने के मकसद से उसने 2012 में टीआरएस की स्थापना की लेकिन, अभियोनज पक्ष के अनुसार, यह वेबसाइट दरअसल राजस्व पैदा करने का कारोबार है।

अदालत ने पाया कि ताकागी वित्तीय लाभ पाने को आतुर एक चतुर उद्यमी हैं। बहरहाल, ताकागी ने प्रकाशित लेखों के कारण सिंगापुर के लोगों को हुए नुकसान के लिए अदालत से माफी मांगी और कहा कि वह जातीय और धार्मिक मुद्दों की संवेदनशीलता से पूरी तरह वाकिफ नहीं थी। ताकागी ने दावा किया कि वह सिंगापुर से ‘‘प्यार’’ करती है और इसे अपना स्थायी घर बनाने की उम्मीद रखती है। कथित रूप से उसकी मदद करने के लिए सिंगापुर के रहने वाले ताकागी के पति यांग काईहेंग (27) के खिलाफ भी सुनवाई चल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App