ताज़ा खबर
 

‘खान’ को लेकर ट्रंप की टिप्पणी से आहत है सिख शहीद का परिवार

देशभर में कई सैन्य परिवार डोनाल्ड ट्रंप द्वारा शहीद सैन्य कैप्टन हुमायूं खान के परिजनों की आलोचना को लेकर हैरत में हैं।

Author लास ऐंजिलिस | Updated: August 8, 2016 2:06 AM
Donald trump, Hillary Clinton, third World War, Hillary third World War, Donald trump vs Hillary Clintonडोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी के कैंडिडेट हैं। (फाइल फोटो)

एक पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी सैनिक के माता पिता के समर्थन में अपनी आवाज उठाते हुए शहीद हुए एक सिख मरीन के परिजनों ने कहा है कि वे डोनाल्ड ट्रंप की टिप्पणियों से आहत हैं और यह ‘राजनीतिक खेल’ खेलने के समान है। अफगानिस्तान में पांच साल पहले दुश्मन के लड़ाकों के हाथों शहीद होने के बाद मरीन कोरपोरल गुरप्रीत सिंह के शयनकक्ष को आज भी लाल, सफेद और नीले रंग से सजाया गया है और उसकी वर्दी अलमारी में टंगी है जिस पर मेडल लगे हैं। उसके पिता निर्मल सिंह कैलिफोर्निया के एंटीलोप में अपने घर में एक दीवार पर उसका पोस्टर लगाए रखते हैं और उसे एक अमेरिकी हीरो बुलाते हैं।

सिंह और उनके परिवार के सदस्यों ने पिछला पूरा सप्ताह एक अन्य शहीद सैनिक के प्रवासी माता पिता के बारे में खबरें देखते रहें जो राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार ट्रंप की टिप्पणी से आक्रोशित हैं। निर्मल ने दी सेक्रोमेंटो बी को बताया, ‘इससे दुख होता है। मुझे नहीं पता क्यों? यह ऐसी बात है जैसे कि वे एक गोल्ड स्टार फैमिली के साथ राजनीतिक खेल खेल रहे हैं।’ गोल्ड स्टार फैमिली अमेरिकी सशस्त्र बलों के उन सदस्यों के वे परिवार हैं जो युद्ध के मैदान में या किन्हीं सैन्य गतिविधियों को अंजाम देते हुए शहीद हो गए। देशभर में कई सैन्य परिवार ट्रंप द्वारा शहीद सैन्य कैप्टन हुमायूं खान के परिजनों की आलोचना को लेकर हैरत में हैं।

उन्होंने ट्रंप की आलोचना की और पिछले महीने फिलाडेल्फिया में डेमोक्रेटिक कन्वेंशन में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन का समर्थन किया। सिंह परिवार ने पाकिस्तानी मूल के मुस्लिम खान परिवार के प्रति समर्थन जताया जिसने उनकी ही तरह अपने देश के लंबे युद्ध में अपना बेटा खोया है। निर्मल सिंह ने बताया कि जब वह मरीन्स से मिलते हैं तो अन्य प्रवासियों के संपर्क में आते हैं। उन्होंने कहा, ‘धर्म मायने नहीं रखता है। वे अपने देश को प्यार करते हैं। इसलिए वे जाते हैं और उन्हें सम्मान मिलना चाहिए।’

ट्रंप के विपरीत सिंह परिवार ने इस बात पर सवाल नहीं उठाया कि कैप्टन खान की मां कन्वेंशन में अपने पति के समीप चुप क्यों खड़ी रहीं। कोरपोरल गुरप्रीत सिंह की मां सतनाम कौर भी संभवत: यही करतीं। सिंह की 28 वर्षीय बहन मनप्रीत कौर के हवाले से कहा गया, ‘जब ट्रंप ने कैप्टन खान की मां के बारे में कुछ कहा उससे मेरी मां का अपमान हुआ। यह ऐसा है कि वे गोल्ड स्टार परिवारों तक को बांटने की कोशिश कर रहे हैं । हमें एकजुट रहना चाहिए।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अमेरिका का ब्लैकलिस्टेड ‘जासूस’ पाकिस्तान में गिरफ्तार
2 पूर्व पीएम ओली ने नेपाल में दख़ल को लेकर भारत को चेताया
3 पाकिस्तान में मॉनसूनी बारिश से 29 की मौत
ये पढ़ा क्या?
X