scorecardresearch

अमेरिकी सेना का ऐतिहासिक फैसला, सिख सैनिक को ड्यूटी पर दाढ़ी रखने, पगड़ी पहनने की दी इजाजत

28 वर्षीय कैप्टन सिमरतपाल सिंह पहले ऐसे सिख युद्धक सैनिक बन गये हैं जिन्हें अमेरिकी सेना में कार्य करने के दौरान उनकी आस्था संबंधी चीजों को बरकार रखने की अनुमति मिल गयी है।

अमेरिकी सेना का ऐतिहासिक फैसला, सिख सैनिक को ड्यूटी पर दाढ़ी रखने, पगड़ी पहनने की दी इजाजत
28 वर्षीय कैप्टन सिमरतपाल सिंह (ट्विटर फोटो)

एक बेहद अहम फैसले में अमेरिकी सेना ने एक सिख अमेरिकी अधिकारी को दाढ़ी रखकर और पगड़ी पहनकर सेवा जारी रखने की अनुमति दे दी। इस फैसले के बाद 28 वर्षीय कैप्टन सिमरतपाल सिंह पहले ऐसे सिख युद्धक सैनिक बन गये हैं जिन्हें अमेरिकी सेना में कार्य करने के दौरान उनकी आस्था संबंधी चीजों को बरकार रखने की अनुमति मिल गयी है। उन्होंने पिछले महीने रक्षा मंत्रालय के समक्ष अपनी तरह का पहला मुकदमा दायर किया था जिसमें कहा गया था कि पगड़ी और दाढ़ी के कारण उनके साथ कुछ मामलों में ‘‘भेदभाव’’ किया जाता है।

अमेरिकी सेना ने 31 मार्च के अपने फैसले में उन्हें लंबे समय तक धार्मिक सुविधा की इजाजत दे दी जिसके तहत उन्हें दाढ़ी रखने और पगड़ी पहनने एवं आस्था संबंधी चीजों को बनाये रखकर देश की सेवा करने की अनुमति दी गयी। सेना के इस फैसले के बाद कैप्टन सिंह ने कहा कि कई अन्य सैनिकों की तरह उनकी भी आस्था है एवं वह इस बात के शुक्रगुजार हैं कि उनको अब आस्था और देश की सेवा में से किसी एक को नहीं चुनना पड़ेगा।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट