ताज़ा खबर
 

ड्रग्‍स देकर आदमी का रेप करता था और मार कर खा जाता था यह सीर‍ियल क‍िलर, फ्रि‍ज में रखता था अंग

नेटफिल्क्स के लेटेस्ट डॉक्यूमेंट्री ट्रैवेल सीरीज में नरभक्षी सीरीयल किलर जेफरी डामर की कहानी बताई गई है, जो ड्रग्स देकर पुरुषों का बलात्कार करता था और फिर उसे मारकर खा जाता था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

नेटफिल्क्स के लेटेस्ट डॉक्यूमेंट्री ट्रैवेल सीरीज ‘डार्क टूरिस्ट’ में उस धर्मस्थल को दिखाया गया है जिसे एक स्केच के माध्यम से नरभक्षी सीरियल किलर जेफरी डामर ने बनाया था। जेफरी डामर सीरियल किलर और यौन अपराधी था, जिसने 1978 से 1991 के बीच 17 लड़कों और पुरुषों के साथ बलात्कार, हत्या और कुकृत्य किया था। पहले ड्रग्स देकर वह बलात्कार करता था और उसके बाद हत्या कर उसके शव को खा जाता था। यही नहीं, वह हत्या करने के बाद शवों के साथ भी सेक्स करता था। वह पूरी तरह जोंबी बन जाता था। कंकाल सहित कुछ अंगों को फ्रिज में इसलिए रख लेता था ताकि उसे बाद में सेक्स के लिए इस्तेमाल कर सके। इसने पहली घटना वर्ष 1978 में अमेरिका के ओहायो में अंजाम दिया था। इसके बाद वह लगातार ऐसे घटनाओं को अंजाम देता रहा। 1991 में उसके चंगुल से एक व्यक्ति बच निकलने में कामयाब रहा। तब जाकर उसकी हकीकत दुनिया के सामने आयी। इसी वर्ष डामर को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान उसने 14 से 36 साल के 17 लोगों की हत्या की बात कबूल की थी। 1992 में उसे 900 साल जेल की सजा सुनाई गई। लेकिन 1994 में एक साथी कैदी ने पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24890 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 25000 MRP ₹ 26000 -4%
    ₹0 Cashback

‘डार्क टूरिस्ट’ में दिखता है कि डामर ने 17 पीडि़तों में से सात को कहां से उठाया था। सीरीज में होस्ट फारेयर और नेटली ने डामर के वकील से भी मुलाकात की। वकील ने दोनों ने एक पीले कानूनी पैड के पेपर का दो टुकड़ा दिखाया। पेपर पर डामर के अपार्टमेंट में स्थित एक धर्मस्थल का चित्र बनाया हुआ था। इसे देख कर ऐसा लग रहा था कि किसी ने गुस्से में इसे बनाया है। इसके आसपास खोपड़ी और कंकाल बनाए गए थे। वकील ने बताया कि डामर ने यह तस्वीर एक दिन खुद बनाया था।

वकील ने बताया कि डामर ने अंतिम दो लोगों के शरीर को पूरी तरह बचाकर रखा था। उसने कई बार हाथों को बचाकर रखा था। पुरुषों के गुप्त अंग को भी वह बचा लेता था। उनके खोपडि़यों को भी रखता था। चित्र पर डामर द्वारा किए गए हस्ताक्षर में 14 नवंबर 1991 की तारीख लिखी हुई थी। जबकि उससे कई महीने पहले 22 जुलाई, 1991 को ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। उसने हत्याओं को कबूल कर लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App