BAGHDADI आखिरी दिनों में जी रहा था बेइंतहा खौफ की जिंदगी, धर लिया था चरवाहे का वेश

अबू बकर अल बगदादी ने एक 17 साल की यज़ीदी लड़की को अपने ससुर के घर रखा हुआ था। लड़की वहां 4 महीने तक रही। इस दरौन बगदादी अपने ससुर के घर आता था और यजीदी लड़की के साथ बलात्कार करता था।

Abu Bakr al-Baghdadi, Austere Religious Scholar, Religious Scholar, IS, Islamic State, ISIS, The Washington Post, American Newspaper, USA, US, America, Donald Trump, International News, Hindi News
Islamic State का सरगना अबू बकर अल बगदादी। (फाइल फोटोः AP)

खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) का सरगना अबू बकर अल बगदादी अपनी आखिरी जिदंगी बेहद खौफ और टेंशन में बीता रहा था। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उसने खुद को सुरक्षित रखने के लिए चरवाहे वेश धर लिया था। AP (Associate Press) द्वारा दी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि आखिरी महीनों में बगदादी बेहद चिड़चिड़ा और डर के मारे अपने बेहद विश्वसनीय लोगों से हर वक्त घिरा रहता था। रिपोर्ट में बताया गया है कि वह अपनी सुरक्षा के प्रति काफी सचेत था और सुरक्षित ठिकाने की तलाश में शहर से रेगिस्तान तक भटक रहा था।

26 तारीख को सीरिया के उत्तरी-पश्चिमी इलाके इडलिब में स्थित उसके अति सुरक्षित ठिकाने पर अमेरिकी स्पेशल फोर्स ने जोरदार हमला बोला था। इस दौरान खुद को खलीफा घोषित करने वाला बगदादी अमेरिकी फोर्स का निशाना बन गया। एसोसिएट प्रेस (AP) को दिए साक्षात्कार में बगदादी के साथ रहने वाली एक एक किशोर यज़ीदी लड़की ने बताया कि कैसे उसे जबरन अगवा किया गया और उसके साथ वह एक स्थान से दूसरे स्थान तक भटकती रही। यज़ीदी लड़की ने बताया कि वह अपने बेहद विश्वासपात्रों लोग जिनमें कुल 7 लोग शामिल थे, बगदादी उन्हीं के साथ एक जगह से दूसरी जगह जाया करता था।

एक महीना पहले ही अबू बकर अल बगदादी ने अपने से नीचे ओहदे वाले शख्स को काफी जिम्मेदारियां दे दी थीं। माना जा रहा है कि ग्रुप की कमान अब उसी के हाथों में होने वाली है। बगदादी के लिए गुलाम बनाकर रखी गई 17 साल की यज़ीदी लड़की ने बताया कि एक रात बगदादी अपने पूरे परिवार के साथ तीन गाड़ियों में सवार हुआ और आगे बढ़ा। लेकिन, मेन रोड पर जैसे ही वे लोग पहुंचे। बगदादी ने आगे बढ़ने से मना कर दिया। क्योंकि, उन्हें लगा कि आगे काफी खतरा है।

आखिरी वक्त में बगदादी अपने सिपहसालारों के साथ एक सप्ताह सीरिया के दक्षिणी हिस्से में स्थिति शहर हाजिन में रुका। ये इलाका इराक की सीमा से सटा है। इसके बाद वे लोग उत्तर में स्थित डाशिशा की ओर बढ़े। यह शहर आईएस के कब्जे में स्थित था और यह भी सीमावर्ती इलाका ही है। यजीदी लड़की बगदादी के ससुर के घर 4 महीने तक रुकी। उसका ससुर भी उसके संगठन का काफी करीबी शख्स था। यहीं, बगदादी आकर रुकता था और यज़ीदी लड़की का बलात्कार करता था। लड़की ने बताया कि इस दौरान उसके साथ वह काफी क्रूरता करता था और उसे मारता-पीटता भी था।

17 वर्षीय यज़ीदी लड़की ने एसोसिएट प्रेस को बताया कि बगदादी स्नीकर पहनता था और अपना चेहरा ढंककर ही बाहर निकलता था। उस दौरान उसके साथ उसके पांच गार्ड हमेशा साथ रहते थे। इन गार्ड्स को हाजी या शेख नाम से पुकारा जाता था। लड़की ने बताया,”जब भी मैं उसके ठिकाने के बारे में पूछती थी, तो वह कुछ नहीं बताता था। उसके बारे में कोई नहीं जानता था।”

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट