ताज़ा खबर
 

LAC पर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प, बाद में चॉकलेट देकर सुलझाया मामला

भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवानों के बीच गुरूवार को अरूणाचल प्रदेश में उस समय झड़प हुई जब 276 चीनी सैनिक सीमा पर चार विभिन्न स्थानों से भारतीय क्षेत्र में घुस आए।

नई दिल्ली | June 15, 2016 10:54 PM
भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवानों के बीच गुरूवार को अरूणाचल प्रदेश में उस समय झड़प हुई जब 276 चीनी सैनिक सीमा पर चार विभिन्न स्थानों से भारतीय क्षेत्र में घुस आए।

भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवानों के बीच गुरूवार को अरूणाचल प्रदेश में उस समय झड़प हुई जब 276 चीनी सैनिक सीमा पर चार विभिन्न स्थानों से भारतीय क्षेत्र में घुस आए। घटना के संबंध में एक आधिकारिक ब्यौरे के अनुसार यह घटना अरूणाचल प्रदेश के यांग्त्से इलाके में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर शंकर टिकरी में हुयी और पीएलए का दावा था कि यह क्षेत्र चीन का है।

इस क्षेत्र की सुरक्षा भारतीय सेना करती है। भारतीय सेना ने तुरंत कार्रवाई की और चीनी सैनिकों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए अपने जवानों को भेजा।  समझा जाता है कि अनुमानित 215 चीनी सैनिकों ने शंकर टिकरी में आगे बढ़ने का प्रयास किया। इसके साथ ही 20-20 सैनिकों ने अरूणाचल के थांग ला और मेरा गाप से तथा 21 अन्य सैनिकों ने यांकी 1 से बढ़ने का प्रयास किया।

आधिकारिक सूत्रों ने आज बताया कि नियमित बैनर ड्रिल के दौरान चीनी सैनिकों ने आक्रामक रूख अपनाते हुए भारतीय सैनिकों पर शारीरिक रूप से हमला करने का प्रयास किया लेकिन उन पर काबू पा लिया गया। सूत्रों ने बताया कि सेना ने आधिकारिक रूप से रिपोर्ट दी है कि सेना और पीएलए के बीच शंकर टिकरी में सिर्फ ‘‘मामूली झड़प’’ हुई।

तनाव कथित तौर पर तभी दूर हुआ जब चीनी सेना के चार अधिकारी एक दुभाषिये के साथ भारतीय सेना के कमांडिंग आफिसर से मिले और उन्हें दो पैकेट चॉकलेट दिये तथा यांकी-1 चौकी के प्रभारी को एक उपहार का पैकेट भेंट किया। यांग्त्से दोनों देशों के बीच विवादित क्षेत्रों में से एक है और यह भारतीय क्षेत्र है। इस क्षेत्र में चीन के सैनिक 2011 से ही समय समय पर कथित रूप से घुसपैठ करते रहे हैं।

Next Stories
1 रेप की शिकायत दर्ज कराने गई महिला को हुई तीन महीने की जेल, भरना पड़ा 56,000 रुपए जुर्माना
2 अमेरिका से भारत को मिला झटका, सीनेट में नहीं पास हो सका विशेष दर्जा देने वाला संशोधन बिल
3 रोबोट को मिली मैनेजर की नौकरी, मेहमानों के स्‍वागत से लेकर अटेंडेंस का रखेगा हिसाब
ये पढ़ा क्या ?
X