ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान के अंतरिम प्रधानमंत्री पर भी घोटाले का आरोप, 220 अरब रुपये का है मामला

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की तरफ से अंतरिम प्रधानमंत्री के रूप में नामित शाहिद खाकान अब्बासी के खिलाफ नेशनल अकाउंटबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) के आयात के ठेके में 220 अरब रुपये के भ्रष्टाचार की जांच कर रहा है।

Author इस्लामाबाद | July 31, 2017 16:44 pm
शाहिद खाकान अब्बासी

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की तरफ से अंतरिम प्रधानमंत्री के रूप में नामित शाहिद खाकान अब्बासी के खिलाफ नेशनल अकाउंटबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) के आयात के ठेके में 220 अरब रुपये के भ्रष्टाचार की जांच कर रहा है। समाचार पत्र डॉन के मुताबिक, पूर्व पेट्रोलियम मंत्री अब्बासी साल 2015 में एनएबी द्वारा दर्ज मामले में मुख्य आरोपी हैं।

मामले के अन्य आरोपियों में पेट्रोलियम सचिव आबिद सईद, अंतर्राज्यीय गैस प्रणाली (आईएसजीएस) के प्रबंध निदेशक मोबिन सौलत, निजी कंपनी एंग्रो के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एमरानुल हक तथा सुई साउदर्न गैस कंपनी (एसएसजीसी) के पूर्व प्रबंधन निदेशक जुहेर अहमद सिद्दिकी शामिल हैं।

एनएबी के दस्तावेजों के मुताबिक, पब्लिक प्रोक्योरमेंट रेग्युलेटरी अथॉरिटी (पीपीआरए) के नियमों तथा संबंधित कानूनों का उल्लंघन करते हुए साल 2013 में एंग्रो कंपनी की सहायक कंपनी एलेंग्री टर्मिनल को एलएनजी आयात तथा वितरण का ठेका प्रदान किया गया था।

यह मामला योजना आयोग तथा एसएसजीसी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के पूर्व सदस्य शाहिद सत्तार की शिकायत पर दर्ज किया गया था।

समाचार पत्र के मुताबिक, यह जांच एनएबी के अध्यक्ष कमर जमान चौधरी के उस दावे के विपरीत है, जिसके मुताबिक, उन्होंने एक नई रणनीति की शुरुआत की थी, जिसके तहत शिकायत, पुष्टि, पूछताछ, जांच तथा संदर्भ दाखिल करने में 10 महीने का वक्त लगा, जिसकी जांच की जा रही है।

सत्तार ने अब्बासी पर पद का दुरुपयोग करने तथा देश के खजाने को 15 वर्षो के दौरान दो अरब डॉलर का नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है। एनएबी के दस्तावेजों के मुताबिक, अब्बासी सहित मामले के सभी आरोपियों को एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (देश छोड़ने पर रोक लगाना) में शामिल करने की सिफारिश की गई है।

उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय ने पनामा पेपर मामले में नवाज शरीफ को दोषी ठहराते हुए उन्हें प्रधानमंत्री पद के अयोग्य करार दिया, जिसके बाद नवाज ने इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री व नवाज के भाई शहबाज शरीफ को प्रधानमंत्री बनाने के लिए उनके संसद सदस्य बनने तक पीएमएल-एन ने अब्बासी को अंतरिम प्रधानमंत्री नामित किया था। केंद्र सरकार का अभी 10 महीने का कार्यकाल बचा हुआ है।

रपट के मुताबिक, नए प्रधानमंत्री के लिए चुनाव मंगलवार को होगा और नेशनल एसेंबली में पीएमएल-एन के बहुमत के मद्देनजर अब्बासी की जीत तय मानी जा रही है।

अब्बासी ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि वह किसी आरोप से भयभीत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ आरोप लगाने वालों को अपनी जमीर तलाशनी चाहिए और अपनी करनी पर शर्म करनी चाहिए।

अब्बासी के खिलाफ एनएबी की कार्रवाई के संबंध में अवामी मुस्लिम लीग के प्रमुख शेख रशीद अहमद के सर्वोच्च न्यायालय का रुख करने के फैसले से संबंधित सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “केवल एक नहीं, मेरे खिलाफ 10 मामले दर्ज कराए गए हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App