ताज़ा खबर
 

सऊदी में शिया मौलवी समेत 47 दोषियों को मौत, भड़के ईरान ने कहा-चुकानी होगी बड़ी कीमत

2012 में अपनी गिरफ्तारी से पहले अल-निम्र ने लोगों से कहा था कि वैसे शासक को स्वीकार नही करो जो कि प्रदर्शनकारियों पर अत्याचार करता है और उनकी हत्या करता है।

Author रियाद | January 3, 2016 8:51 AM
मौलवी शेख निम्र अल-निम्र को मौत की सजा मिलने के बाद सऊदी अरब के पूर्वी हिस्से और बहरीन में केंद्रित अल्पसंख्यक शिया समुदाय के भड़कने की आशंका है।

सऊदी अरब में आतंक के मामले में दोषी पाए गए 47 कैदियों को शनिवार को मौत दे दी गई। मौत की सजा पाने वाले लोगों में एक शिया मौलवी भी शामिल है, जिसने 2011 की अरब क्रांति के दौरान मुख्य भूमिका निभाई थी। मौलवी शेख निम्र अल-निम्र को मौत की सजा मिलने के बाद सऊदी अरब के पूर्वी हिस्से और बहरीन में केंद्रित अल्पसंख्यक शिया समुदाय के भड़कने की आशंका है। उधर, शिया प्रधान ईरान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सऊदी को इस हरकत के लिए बड़ी कीमत चुकानी होगी।

सऊदी में बहुसंख्यक सुन्नी समुदाय के नेतृत्व वाली सरकार से और अधिक अधिकारों की मांग करते हुए शिया समुदाय ने 2011 में प्रदर्शन किया था, जिसके बाद से यहां हिंसा की छिटपुट घटनाएं ही देखी गयी हैं। अल-निम्र बहरीन में सुन्नी के नेतृत्व वाले राजतंत्र के मुखर आलोचक थे। 2011 में हुए शिया समुदाय के प्रदर्शन को यहां कठोरता पूर्वक दबा दिया गया था। बहरीन में प्रदर्शन को दबाने के लिए सऊदी अरब ने अपनी सेना भेजा था। 2012 में अपनी गिरफ्तारी से पहले अल-निम्र ने लोगों से कहा था कि वैसे शासक को स्वीकार नही करो जो कि प्रदर्शनकारियों पर अत्याचार करता है और उनकी हत्या करता है।

सरकारी सऊदी प्रेस एजेंसी की ओर से जारी की गयी सूची में मौलवी का नाम शामिल है। एजेंसी ने गृहमंत्रालय के हवाले से यह जानकारी दी है। सरकार संचालित टीवी ने भी मौत की सजा की खबर दी है। सऊदी अरब ने बताया कि सभी अपीलों के समाप्त हो जाने के बाद शाही अदालत ने सजा पर अमल करने का आदेश जारी किया था। राजधानी रियाद और 12 अन्य शहरों में सजा पर अमल की गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App