ताज़ा खबर
 

यहां नहीं कर सकते लाइफ पार्टनर के फोन की जासूसी, पकड़े जाने पर जेल या 86 लाख रुपये जुर्माना

सरकार की इस विज्ञप्ति पर कुछ लोगों ने तर्क दिया है कि यह कानून पुरुषों के पक्ष में होगा, जबकि महिलाओं के लिए इससे दिक्कतें खड़ी होंगीं। वे अपने पति के खिलाफ अश्लीलता, अभद्रता और उत्पीड़न के अन्य मामलों के आरोपों को साबित नहीं कर सकेंगीं।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Pixabay)

भारत में भले ही लोग अपने पति और पत्नी के फोन की जासूसी कर लें। लेकिन सऊदी अरब में ऐसा करना अब से अपराध माना जाएगा। यानी यहां पर पति-पत्नी एक-दूसरे के फोन नहीं चेक कर सकेंगे। सरकार ने इस संबंध में साफ ऐलान किया है कि अगर कोई यहां पर जीवनसाथी के फोन की जासूसी करते पकड़ा गया, तो उसके खिलाफ सजा का प्रावधान होगा। आरोपी को उस स्थिति में 86 लाख रुपए जुर्माना भरने के साथ जेल की सजा भी होगी। सोमवार (दो अप्रैल) को सऊदी अरब में सरकार ने जारी किए गए अपने बयान में इस नए एंटी सायबर क्राइम लॉ का जिक्र किया।

कानून के अनुसार, अगर कोई शख्स या महिला बिना किसी संस्था के कंप्यूटर की मदद से प्रसारित डेटा पर जासूसी करता है या किसी अन्य व्यक्ति को धमकी देने या ब्लैकमेल करने के इरादे से कंप्यूटर का इस्तेमाल करता है तो यह अपराध माना जाएगा।

विज्ञप्ति में आगे कहा गया, “सोशल मीडिया के विकास के साथ सायबर क्राइम के मामलों में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है, जिसमें ब्लैकमेलिंग,
मानहानि और दूसरों के अकाउंट हैक करना आदि शामिल है।” सरकार का कहना है कि इस कानून का मुख्य उद्देश्य लोगों और समाज की नैतिकता व निजता को बचा कर रखना है।

सरकार की विज्ञप्ति पर कुछ लोगों ने तर्क दिया है कि यह कानून पुरुषों के पक्ष में होगा, जबकि महिलाओं के लिए इससे दिक्कतें खड़ी होंगीं। वे अपने पति के खिलाफ अश्लीलता, अभद्रता और उत्पीड़न के अन्य मामलों के आरोपों को साबित नहीं कर सकेंगीं।

आपको बता दें कि सऊदी अरब में सोशल मीडिया तेजी से लोगों के बीच इस्तेमाल किया जाने लगा है। आंकड़ों के अनुसार, साल 2017 तक देश की कुल 75 फीसदी आबादी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स का प्रयोग करती थी। यहां पर मोबाइल मैसेंजर वॉट्सएप सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने सोशल मीडिया नेटवर्क है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App