सऊदी अरबः तख्तापलट की आशंका, रॉयल पैलेस के पास गोलीबारी; सुरक्षाबलों ने मार गिराया ड्रोन

पुलिस का कहना है कि संदिग्ध ड्रोन के कारण राजनीतिक अशांति का भय उत्पन्न हो गया था। सऊदी अरब के सुरक्षाबलों ने उस ड्रोन को उसे मौके पर ही ध्वस्त कर दिया था।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

सऊदी अरब में शनिवार (21 अप्रैल) शाम को भारी गोलीबारी हुई। राजधानी रियाद स्थित रॉयल पैलेस के सुरक्षा घेरे में ड्रोन घुस गया था। इलाके में इसके बाद अफरा-तफरी का माहौल हो गया। मामले की जानकारी पर सुरक्षाबलों ने ड्रोन को मार गिराया। घटनास्थल के पास में ही सऊदी के किंग का महल भी था। गोलीबारी के दौरान कुछ लोगों ने घटना की रिकॉर्डिंग भी कर ली थी, जिसके वीडियो सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स के जरिए सामने आए हैं। हालांकि, अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है कि इस गोलीबारी में कितने लोग शामिल थे, जबकि कुछ लोगों ने इस हमले के बाद तख्तापलट होने की आशंका जताई है।

उधर, पुलिस का कहना है कि संदिग्ध ड्रोन के कारण राजनीतिक अशांति का भय उत्पन्न हो गया था। सऊदी अरब के सुरक्षाबलों ने उस ड्रोन को उसे मौके पर ही ध्वस्त कर दिया था।

स्थानीय न्यूज एजेंसी ‘एसपीए’ के अनुसार, गोलीबारी शाम सात बजकर 50 मिनट के आसपास हुई थी। फिलहाल मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है। अच्छी बात यह रही कि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। बताया गया कि गोलीबारी के दौरान सऊदी के किंग सलमान रॉयल पैलेस में नहीं थे। वह रियाद के दिरिया गए हुए थे।

सोशल मीडिया पर मामले से जुड़ी क्लिप में तकरीबन 30 सेकेंड तक भारी फायरिंग हुई थी। गोलियों की तड़तड़ाहट से रॉयल पैलेस के आसपास का इलाका दहल उठा था, जबकि एक अन्य वीडियो में पुलिस की गाड़ियां सड़क पर गश्त करते निकालते दिख रही थीं।

वहीं, ‘वॉल स्ट्रीट’ की पत्रकार मार्गरीटा स्टैनकाटी ने इस बाबत ट्वीट किया। लिखा, “रियाद में तख्तापलट की कोशिश नहीं हुई है। एक टॉय ड्रोन किंग के महल के पास आ गया था, जिसके बाद उसे गिरा दिया गया।” मार्गरीटा के अनुसार, ड्रोन कहां से, किसने और क्यों भेजा था, ये बातें अभी तक सामने नहीं आ सकी हैं।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट