ताज़ा खबर
 

बदल गया सार्क सम्मेलन का माहौल, जब नरेंद्र मोदी व नवाज शरीफ ने मिलाए हाथ

शुरुआती बेरुखी के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के उनके समकक्ष नवाज शरीफ के मुस्कराकर एक दूसरे से हाथ मिलाने और जरा सी बात करने से सार्क शिखर सम्मेलन का माहौल बदल गया। सम्मेलन में अब तक एक दूसरे से नजर मिलाने से बच रहे दोनों नेताओं ने गुरुवार को मुस्कुराते हुए […]

Author November 28, 2014 9:50 AM
जब नरेंद्र मोदी व नवाज शरीफ ने मिलाए हाथ (फोटो: भाषा)

शुरुआती बेरुखी के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के उनके समकक्ष नवाज शरीफ के मुस्कराकर एक दूसरे से हाथ मिलाने और जरा सी बात करने से सार्क शिखर सम्मेलन का माहौल बदल गया। सम्मेलन में अब तक एक दूसरे से नजर मिलाने से बच रहे दोनों नेताओं ने गुरुवार को मुस्कुराते हुए एक दूसरे से देर तक हाथ मिलाया और एक-दो बातें की। इस दौरान मोदी ने शरीफ के बाजू पर हाथ रखा और दोनों नेता कैमरों की ओर देखते हुए देर तक हाथ मिलाते रहे। बुधवार की बेगानियत के बाद दोनों नेताओं के इस गर्मजोशी भरे रुख का वहां मौजूद लोगों ने जोरदार तालियां बजाकर स्वागत किया।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने मोदी और शरीफ की संक्षिप्त बातचीत पर कहा कि शिष्टाचार का बहुत ज्यादा मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए। प्रवक्ता ने कहा कि बात भी हुई, मुलाकात भी हुई लेकिन उन्होंने इस बात से साफ इनकार कर दिया कि दोनों नेताओं के बीच कोई सीधी बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि भारत पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच कोई व्यापक और व्यवस्थित बातचीत नहीं हुई।
बुधवार रात नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला की ओर से दिए गए भोज में दोनों के बीच संक्षिप्त बातचीत की खबरों को खारिज करते हुए पाकिस्तान के एक सूत्र ने कहा कि दोनों में दुआ-सलाम तक नहीं हुई। हालांकि गुरुवार को नेपाल की राजधानी से 30 किलोमीटर दूर धूलीखेल में मोदी और शरीफ के लिए एक दूसरे को नजरअंदाज करना नामुमकिन सा ही था जहां मेहमानों की सीमित संख्या थी।

बताते चलें कि प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को नवाज शरीफ के अलावा सार्क शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने आए सदस्य देशों के तमाम शासनाध्यक्षों व राष्ट्राध्यक्षों के साथ द्विपक्षीय वार्ता की थी। मोदी और शरीफ के बीच बातचीत न होने से सार्क देशों के अन्य प्रतिनिधियों में मायूसी थी। बुधवार को शुरू हुआ सार्क शिखर सम्मेलन गुरुवार को समाप्त हुआ।

धूलीखेल में सार्क रिट्रीट के मौके पर मोदी और शरीफ के बीच कुछ पल की गर्मजोशी को भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन के ट्वीट ने भी बयां किया जिसमें उन्होंने लिखा, ‘तस्वीर, जिसका सब इंतजार कर रहे थे।’

अकबरुद्दीन से पूछा गया कि क्या दोनों नेताओं के हाथ मिलाने के बाद बातचीत फिर से शुरू होने की संभावना है तो उन्होंने कहा कि हम सार्थक संवाद के पक्षधर हैं और अगर आज हुई मुलाकात या हाथ मिलाने से ऐसा होता है तो हम इसका स्वागत करेंगे। हालांकि जोर सार्थक संवाद पर रहेगा। यह पूछे जाने पर कि क्या शरीफ ने अपने भारतीय समकक्ष से बात नहीं होने पर अप्रसन्नता जाहिर की, प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।

सार्क के शिखर सम्मेलन के दौरान भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों के बीच गर्मजोशी की कमी मई में मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शरीफ के शरीक होने के बाद से भारत-पाक रिश्तों में अचानक आई खटास को दर्शाती है। मोदी ने दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) के 18वें शिखर सम्मेलन से इतर शरीफ को छोड़कर सार्क देशों के सभी शासन प्रमुखों और राष्ट्राध्यक्षों के साथ औपचारिक द्विपक्षीय मुलाकात की।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App