ताज़ा खबर
 

US खुफिया एजेंसियों का दावा, पुतिन ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में ट्रंप को जिताने के लिए कराई थी हैकिंग

एनबीसी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक हैकिंग के पीछे पुतिन का इरादा कथित तौर पर हिलेरी क्लिंटन से बदला लेना था।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। (REUTERS/Ivan Sekretarev/Pool)

अमेरिकी इंटेंलिजेंस अधिकारियों का मानना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के कैंपेन के दौरान हुई हैकिंग में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन खुद शामिल थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक पुतिन ने खुद निर्देश दिए थे कि हैकिंग को कैसे अंजाम देना है और इसे कैसे इस्तेमाल करना है।
बुधवार को जारी हुई ‘एनबीसी’ न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक दो सीनियर ऑफिसर ने यह बात मानी है कि पुतिन ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में डेमॉक्रेटिक उम्मीदवार  हिलेरी क्लिंटन के खिलाफ अमेरिकी इलेक्शन कैंपेनिंग के दौरान हैकिंग में भूमिका निभाई थी। अधिकारियों ने एनबीसी को बताया कि हैकिंग के पीछे पुतिन का इरादा कथित तौर पर हिलेरी क्लिंटन से बदला लेना था। अधिकारियों ने बताया कि उन्हें काफी खोजबीन करने के बाद पूरा भरोसा है कि पुतिन हैकिंग में शामिल थे। अधिकारियों का मानना है कि केवल रूस के सबसे वरिष्ठ अधिकारी इन गतिविधियों के लिए अधिकृत हो सकते हैं। यह खुफिया रूसी प्रणाली पुतिन के नियंत्रण में हैं। इस आधार से पता चलता है कि पुतिन के निर्देश पर ही ये सब हुआ है।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 15220 MRP ₹ 17999 -15%
    ₹2000 Cashback

बता दें कि बीते हफ्ते ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि सीआईए ने पाया है कि रूस ने अमेरिका में कई ईमेल हैक किए हैं ताकि डॉनल्ड ट्रंप को जिताया जा सके। लेकिन एफबीआई और अन्य एजेंसियां इस बात का पूरी तरह से समर्थन नहीं करती हैं।

साल 2011 में अमेरिका की तत्कालीन विदेश मंत्री हिलरी क्लिंटन ने रूस में हुए संसदीय चुनावों पर सवाल उठाए थे। इसके बाद रूस की सड़कों पर प्रदर्शन शुरू हो गए थे। खुफिया अधिकारियों ने एनबीसी न्यूज को बताया कि पुतिन ने इसके लिए क्लिंटन को कभी माफ नहीं किया है। एनबीसी ने सीनियर अधिकारियों के हवाले से बताया कि संभव कार्रवाई में अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने पुतिन की निजी संपत्ति की जांच करना शुरू कर दिया है। हालांकि डॉनल्ड ट्रंप ने पहले ही हैकिंग में रूस का हाथ होने को वाहियात करार दिया है। वहीं अमेरिका के वरिष्ठ सांसदों ने इस मामले में कांग्रेस से जांच कराने के लिए कहा है।

 

 

  • दुनिया के 10 सबसे ताकतवर लोगों में शुमार पीएम मोदी; पुतिन टॉप पर, देखें विडियो

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App