scorecardresearch

Russia: पुतिन का बड़ा फैसला, 2024 तक छोड़ देगा इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन, बनाएगा अपना ऑर्बिटल सर्विस स्टेशन

बोरिसोव के पूर्ववर्ती दिमित्री रोगोज़िन ने पिछले महीने कहा था कि मॉस्को स्टेशन के संचालन के संभावित विस्तार के बारे में बातचीत में भाग ले सकता है, अगर यू.एस. रूसी अंतरिक्ष उद्योगों पर लगाए गए प्रतिबंधों को हटा देता है।

Russia: पुतिन का बड़ा फैसला, 2024 तक छोड़ देगा इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन, बनाएगा अपना ऑर्बिटल सर्विस स्टेशन
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। (फोटो सोर्स: Reuters)।

रूस की स्पेस एजेंसी ROSCOSMOS के नए प्रमुख यूरी बोरिसोव ने ऐलान किया है कि रूस अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से साल 2024 तक छोड़ देगा। उन्होंने पद संभालते ही यह घोषणा की।

बोरिसोव ने कहा, ‘मुझे लगता है कि उस समय तक हम एक रूसी परिक्रमा स्टेशन बनाना शुरू कर देंगे।’ साथ ही राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को इस बात की जानकारी भी दी। यूरी ने कहा कि हम अपने सभी पार्टनर्स को दिए गए वादे को पूरा करने के बाद ही स्पेस स्टेशन को छोड़ेंगे।

इससे पहले रूसी स्पेस एजेंसी के प्रमुख दिमित्री रोगोजिन भी इस तरह की बाते कह चुके हैं। उन्होंने कहा था कि वो इस बारे में सार्वजनिक तौर पर बात नहीं करना चाहते। बता दें कि यूक्रेन पर हमला करने की वजह से रूस पर प्रतिबंध लगाए गए थे। इससे नाराज रूस ने कहा था कि वह अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से अगले दो सालों में बाहर हो जाएगा।

तत्कालीन रूसी स्पेस एजेंसी प्रमुख दिमित्री रोगोज़िन ने जानकारी दी थी कि फैसला पहले ही किया जा चुका है, इस पर सार्वजनिक रूप से बात करना जरूरी नहीं। रोगोजिन ने यह नहीं बताया था कि ISS प्रोजेक्ट में रूस की भागीदारी कब खत्म होगी, लेकिन उन्होंने पुष्टि की कि वे कम से कम एक साल का नोटिस देंगे।

रूसी अंतरिक्ष विश्लेषकों ने पहले ही यह कहा था कि रूस कभी भी ISS में अपनी भागीदारी को 2024 से आगे बढ़ाने के लिए सहमत नहीं हुआ। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा और बाकी अंतरराष्ट्रीय साझेदार अब चाहते हैं कि इस प्रोजेक्ट को कम से कम 2030 तक बढ़ाया जाए।

अंतरिक्ष स्टेशन को रूस, अमेरिका, यूरोप, जापान और कनाडा की अंतरिक्ष एजेंसियों चलाती-

अंतरिक्ष स्टेशन संयुक्त रूप से रूस, अमेरिका, यूरोप, जापान और कनाडा की अंतरिक्ष एजेंसियों द्वारा चलाया जाता है। पहला टुकड़ा 1998 में कक्षा में रखा गया था, और चौकी लगभग 22 वर्षों से लगातार आबाद है। इसका उपयोग शून्य गुरुत्वाकर्षण में वैज्ञानिक अनुसंधान करने और भविष्य की अंतरिक्ष यात्राओं के लिए उपकरणों का परीक्षण करने के लिए किया जाता है। बता जा रहा है कि रूसी घोषणा निश्चित रूप से अटकलों को हवा देगी कि यह यूक्रेन में संघर्ष पर पश्चिमी प्रतिबंधों से राहत पाने के लिए मास्को की पैंतरेबाज़ी का हिस्सा है।

बोरिसोव के पूर्ववर्ती, दिमित्री रोगोज़िन ने पिछले महीने कहा था कि मॉस्को स्टेशन के संचालन के संभावित विस्तार के बारे में बातचीत में भाग ले सकता है, अगर यू.एस. रूसी अंतरिक्ष उद्योगों पर लगाए गए प्रतिबंधों को हटा देता है।

एलोन मस्क की स्पेसएक्स कंपनी अब नासा के अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष स्टेशन से और उसके लिए उड़ान भर रही है। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी ने आय का एक बड़ा स्रोत खो दिया है। वर्षों से नासा रूसी रॉकेट पर सवार स्टेशन से आने-जाने के लिए प्रति सीट दसियों मिलियन डॉलर का भुगतान कर रहा था।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.