ताज़ा खबर
 

शोध में दावा, मानवता के लिए सीरिया से तीन गुना ज्‍यादा खतरनाक है पाकिस्‍तान

सामरिक दूरदर्शिता समूह ने 21वीं सदी के पहले 5 सालों में आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने वाले 200 समूहों का अध्ययन किया। इस अवधि के दौरान ये पाया गया कि पूरी दुनिया के 200 से ज्यादा समूहों में से करीब एक चौथाई की विचारधारा और मान्यता जिहादी है।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पाकिस्तान पूरी दुनिया में वैश्विक आतंकवाद का समर्थक और आतंकवादियों की फैक्ट्री बना हुआ है। पाकिस्तान पूरी दुनिया में सीरिया से भी तीन गुना ज्यादा आतंकवाद फैलाने का गुनाहगार है। ये तथ्य एक अध्ययन रिपोर्ट में सामने आया है। ये अध्ययन आॅक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और सामरिक दूरदर्शिता समूह के द्वारा ‘खतरे में मानवता – वैश्विक आतंकवाद का भय’ विषय पर किया गया था।

अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक, अफगान तालिबान और लश्कर-ए-तैय्यबा भविष्य में अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा संकट खड़ा करेंगे। पाकिस्तान को दुनिया में सबसे ज्यादा आतंकी ठिकानों और पनाहगाहों वाला देश बताया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ”अगर हम तथ्यों और आंकड़ों के आधार पर दुनिया भर के सबसे खतरनाक आतंकवादी समूहों को देखें, हम पाते हैं कि उनमें से ज्यादातर या तो पाकिस्तान के हैं या फिर उन्हें पाकिस्तान से मदद मिल रही है। यहां ​तक कि अफगानिस्तान में भी कई ऐसे संगठन हैं जो पा​किस्तान की मदद से चल रहे हैं।

इस रिपोर्ट में 80 से ज्यादा पेज हैं। इस रिपोर्ट को तैयार करने का मकसद अगले दशक में आने वाली चुनौतियों पर चर्चा करना, विश्लेषणात्मक तंत्र प्रस्तुत करना और नीति निर्माताओं को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करना है। रिपोर्ट के मुता​बिक, ”सभी प्रकार के चरमपंथ में बढ़ोत्तरी, जनसंहार के हथियारों का दुरुपयोग और आर्थिक अवरोध अब तक की हुई मानवीय प्रगति को धराशायी कर देंगे या फिर साल 2030 तक मरणासन्न कर देंगे। ये सभी आतंकवाद से भीतर तक जुड़े हुए हैं।”

सामरिक दूरदर्शिता समूह ने 21वीं सदी के पहले 5 सालों में आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने वाले 200 समूहों का अध्ययन किया। इस अवधि के दौरान ये पाया गया कि पूरी दुनिया के 200 से ज्यादा समूहों में से करीब एक चौथाई की जिहादी विचारधारा की अपनी खुद की मान्यता है। इन समूहों में से, इस्लामिक स्टेट आॅफ इराक और आईएसआईएल ने ही बीते पांच सालों में सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी हैं। लेकिन आईएसआईएल के उत्थान और पतन के बीच अल-कायदा ने सबसे ज्यादा अशांति फैलाई है। साल 2011 तक अलकायदा का नेतृत्व ओसामा बिन लादेन कर रहा था लेकिन अब इस ग्रुप का नेतृत्व उसका बेटा हमजा बिन ओसामा बिन लादेन कर रहा है। मीडिया का एक बड़ा तबका उसे ‘आतंक का नया बादशाह’ करार दे रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कंपनी ने बीयर का नाम रख दिया ‘गणेश’, बवाल मचा तो मार्केट से लेना पड़ा वापस
2 नाटकीय घटनाक्रम के बीच श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे बने नये प्रधानमंत्री
3 बदहाल है दुनिया को सबसे ज्यादा मिस वर्ल्ड देने वाला यह देश, पेट भरने को जिस्‍म बेच रहीं महिलाएं