ताज़ा खबर
 

अमेरिकी नेता का आपत्तिजनक बयान, बोले- जनसंख्या बढ़ाने में मदद करते हैं रेप और सगे-संबंधियों के कुकर्म

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक स्वीट ने गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने वाले बिल के खिलाफ यह बयान दिया। विधेयक भ्रूण के हृदय की धड़कन का पता चलने के बाद गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने का प्रावधान करता है।

Author Published on: August 15, 2019 10:08 PM
अमेरिका के रिपब्लिकन कांग्रेसमैन स्टीव किंग। फोटो: (Tom Brenner: The New York Times)

संयुक्त राज्य अमेरिका के रिपब्लिकन कांग्रेसमैन स्टीव किंग ने एकबार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने सभी मर्यादाओं को ताक पर रख कहा कि रेप ने मानव जाति को बढ़ाने में मदद की है। उन्होंने कहा कि अगर रेप और सगे-संबंधियों के कुकर्म नहीं होते तो विश्व में आज इतनी जनसंख्या नहीं होती। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक स्वीट ने गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने वाले बिल के खिलाफ यह बयान दिया। विधेयक भ्रूण के हृदय की धड़कन का पता चलने के बाद गर्भपात पर प्रतिबंध लगाने का प्रावधान करता है।

उन्होंने कहा ‘अगर हम अपनी पीढ़ियों के इतिहास पर नजर डालें तो हमें कहीं न कहीं ऐसे उदाहरण दिख जाएंगे। विश्व के हर देश में ऐसा ही होता आया है। मेरा मानना है कि इसमें जन्म लेने वाले बच्चे की कोई गलती नहीं। अगर हम इतिहास में भी ऐसा ही (गर्भपात पर प्रतिबंध) करते तो आज विश्व में इतने लोग नहीं होते।’

चार राज्य – जॉर्जिया, मिसिसिपी, केंटकी और ओहियो इस विधेयक को पास कर चुके हैं। धीरे-धीरे यह अन्य राज्यों में भी लागू हो सकता है। उत्तर पश्चिम आयोवा का प्रतिनिधित्व करतने वाले स्टीव ने कहा है कि इस दुनिया में हर किसी की जान की कीमत है। किसी की भी जान की कीमत उतनी ही कीमती है जितनी सभी की।

मालूम हो कि इस विधेयक में बलात्कार और सगे संबंधियों के व्याभिचार के लिए एक अपवाद जोड़ने की मांग की जा रही है। हालांकि उनके इस बयान के बाद नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। भारतीय मूल की अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस ने कहा कि स्टीव अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं। वहीं कई डेमोक्रेट नेताओं ने स्वीट से उनके इस्तीफे की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पाकिस्तान को रूस ने भी सुना दिया दो टुक, “कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा है, आपस में सुलझाएं”
2 ट्विटर पर वायरल हो रहा ‘बलूचिस्तान एकता दिवस’, पाकिस्तान को बता रहे मक्कार
3 लंदन यूनिवर्सिटी के कॉलेज में बैन हुआ बीफ, जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए उठाया कदम