ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी सरकार ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुख्यालय को कब्जे में लिया

मंत्री ने आगे कहा कि पंजाब सरकार ने बहावलपुर में दो परिसरों को कब्जे में लिया है और उसके कामकाज को देखने के लिए अपना एक प्रशासक नियुक्त किया है।

Author February 23, 2019 8:34 AM
एफ-16 विमान के इस्तेमाल पर भी पाकिस्तान ने पूरी दुनिया से झूठ बोला (फोटोः फेसबुक-ImranKhanOfficial/एजेंसी)

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तानी सरकार ने शुक्रवार को कुख्यात आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के मुख्यालय को कब्जे में ले लिया। सरकार की तरफ से यह कार्रवाई तब की गई, जब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पड़ोसी मुल्क के ऊपर अपने यहां आतंकी संगठनों पर नकेल कसने का जबरदस्त दबाव बना हुआ है। पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) इमरान खान की सरकार ने जेईएम के मुख्यालयों का प्रशासनिक नियंत्रण अपने हाथों में ले लिया।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, वहां के सीओएएस जनरल बाजवा पीओके स्थित एलओसी पर शुक्रवार को पहुंचे, जहां उन्होंने सैन्य टुकड़ियों को साफ निर्देश जारी किया कि हर प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें।

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला हुआ था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले के कुछ ही घंटों बाद जेईएम ने फिदायीन हमले की जिम्मेदारी ले ली थी। दरअसल, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने गुरुवार को बयान जारी कर पुलवामा हमले को जघन्य और कायराना बताया था।

यूएनएससी ने इसके अलावा आतंकी हमले की सख्त शब्दों में आलोचना की थी। यूएनएससी ने जोर देकर कहा कि इस तरह की हरकतों को अंजाम देने वालों और धन मुहैया करने वालों को न्याय के दायरे में लाया जाए।

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी के मुताबिक, “पंजाब सरकार ने बहावलपुर स्थित जेईएम मुख्यालयों को अपने नियंत्रण में ले लिया है।” मंत्री ने आगे कहा कि पंजाब सरकार ने बहावलपुर में दो परिसरों को कब्जे में लिया है और उसके कामकाज को देखने के लिए अपना एक प्रशासक नियुक्त किया है।

बहावलपुर, लाहौर से तकरीबन 400 किलोमीटर दूर स्थित है। वहीं, गृह मंत्रालय के एक बयान में बताया गया कि जैश पर कार्रवाई, बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई राष्ट्रीय सुरक्षा कमेटी की बैठक में लिए गए फैसले की तर्ज पर की गई। बयान के अनुसार, दोनों परिसरों में फिलहाल 70 शिक्षक और 600 छात्र हैं। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App