ताज़ा खबर
 

मोदी-मैक्रां मुलाकात: फ्रेंच राष्‍ट्रपति की इस एक बात ने बता दिया कितनी मजबूत है भारत-फ्रांस की दोस्‍ती

फ्रांस भारत का नौवां सबसे बड़ा निवेश साझेदार है। वह रक्षा, अंतरिक्ष, परमाणु और नवीकरणीय ऊर्जा, शहरी विकास और रेल के क्षेत्र में भारत के विकास संबंधी कदमों में एक प्रमुख साझेदार है।

Author June 3, 2017 19:06 pm
दोनों नेताओं ने यहां फ्रांसीसी राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास एलिसी पैलेस में मुलाकात की। (Image Source: Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (3 जून) को फ्रांस के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति इमैन्युएल मैक्रां से मुलाकात की और अतंरराष्ट्रीय तथा परस्पर हितों के मुद्दों पर चर्चा के साथ ही रणनीतिक संबंधों, आतंकवाद की रोकथाम और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर रिश्तों को और आगे बढ़ाने पर जोर दिया। दोनों नेताओं ने यहां फ्रांसीसी राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास एलिसी पैलेस में मुलाकात की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने दोनों नेताओं की मुलाकात की कुछ तस्वीरों के साथ ट्वीट किया, ‘‘नई गर्मजोशी और मित्रता की प्रतीक वाली एक मुलाकात। @PM नरेंद्र मोदी ने पेरिस में फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैन्युएल मैकरॉन से मुलाकात की।’’

मोदी रूस की अपनी यात्रा के बाद फ्रांस पहुंचे। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ वार्ता की और अंतरराष्ट्रीय आर्थिक मंच में शामिल हुए। रूस से पहले मोदी ने जर्मनी और स्पेन की भी यात्रा की और वहां शीर्ष नेतृत्व के साथ वार्ता की। अपनी यात्रा से पहले मोदी ने कहा था, ‘‘फ्रांस हमारा एक महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदार है। मैं राष्ट्रपति मैक्रां से मिलने और परस्पर हित के मुद्दों पर चर्चा करने को उत्सुक हूं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधारों और सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता, कई बहुपक्षीय निर्यात नियंत्रण व्यवस्थाओं में भारत की सदस्यता, आतंकवाद रोधी सहयोग, जलवायु परिवर्तन और इंटरनेशनल सोलर अलायंस पर समन्वय सहित कई महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर मैं फ्रांसीसी राष्ट्रपति के साथ विचारों का आदान-प्रदान करूंगा।’’

फ्रांस भारत का नौवां सबसे बड़ा निवेश साझेदार है। वह रक्षा, अंतरिक्ष, परमाणु और नवीकरणीय ऊर्जा, शहरी विकास और रेल के क्षेत्र में भारत के विकास संबंधी कदमों में एक प्रमुख साझेदार है। प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव में जीत मिलने पर मैक्रां को फोन करके बधाई दी थी और कहा था कि वह द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के लिए उनके साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं। 39 वर्षीय मैक्रां ने पिछले महीने फ्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति बनकर इतिहास रचा था।

देखिए वीडियो - टॉप 5 हेडलाइंस: भारत की GDP पर चीन ने मोदी को कोसा, कोहली को नहीं पसंद थे कुंबले और अन्य खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App