ताज़ा खबर
 

जापान में 6.7 की तीव्रता का भूकंप, आठ लोगों की मौत, दर्जनों लोग लापता

इस सप्ताह के शुरुआत में आए तूफान और उसके बाद अब आए भूकंप की वजह से इस क्षेत्र के लोग प्रभावित हुए हैं। कम आबादी वाले ग्रामीण इलाकों में बड़े पैमाने पर भूस्खलन की घटना हुई है।

Author September 6, 2018 2:17 PM
स्थानीय मीडिया के मुताबिक 40 लोग लापता हैं। स्थानीय मीडिया ने बताया कि मरने वालों में एक 82 साल के बुजुर्ग व्यक्ति शामिल हैं जो भूकंप के दौरान सीढ़ियों से गिर गए थे। करीब 130 लोगों को हल्की चोट आई है। (photo-AP/PTI)

जापान के होकायिदो द्वीप में गुरुवार (6 सितंबर, 2018) तड़के आए भूकंप में अब तक आठ लोगों की मौत हो गई है और कई घर ढह गए हैं तथा भूस्खलन की वजह से दर्जनों लोग लापता हैं। इस सप्ताह के शुरुआत में आए तूफान और उसके बाद अब आए भूकंप की वजह से इस क्षेत्र के लोग प्रभावित हुए हैं। कम आबादी वाले ग्रामीण इलाकों में बड़े पैमाने पर भूस्खलन की घटना हुई है।

प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण में पाया गया कि पहाड़ों के बीच स्थित दर्जनों घरों को क्षति पहुंची है। राहत एवं बचाव हेलीकॉप्टर लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की कोशिश में लगे हुए हैं। बिजली आपूर्ति करने वाले एक मुख्य थर्मल संयंत्र को पहुंची क्षति से करीब 30 लाख घरों में अंधेरा छाया हुआ है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने आपातकालीन कैबिनेट बैठक के बाद कहा, ”हम लोगों को सुरक्षित बचाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।”

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15444 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback

सरकारी प्रवक्ता योशिहीदे सुगा ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि आठ लोगों की मौत हो गई है और स्थानीय मीडिया के मुताबिक 40 लोग लापता हैं। स्थानीय मीडिया ने बताया कि मरने वालों में एक 82 साल के बुजुर्ग व्यक्ति शामिल हैं जो भूकंप के दौरान सीढ़ियों से गिर गए थे। करीब 130 लोगों को हल्की चोट आई है।

जापान की परमाणु नियामक अथॉरिटी ने बताया कि तोमारी परमाणु संयंत्र के तीन रियेक्टरों को बैकअप जेनरेटर की मदद से चलाया जा रहा है क्योंकि द्वीप में बिजली की आपूर्ति ठप्प पड़ गई है और यातायात व्यवस्था चरमरा गई है। भूकंप की वजह से सपोरो में फोन सेवा और टेलिविजन प्रसारण भी प्रभावित हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App