मोदी ने ली धर्मनिरपेक्षता पर चुटकी, कहा: भारत में संस्कृत में श्लोक पढ़ा जाता तो सवाल खड़ा हो जाता - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मोदी ने ली धर्मनिरपेक्षता पर चुटकी, कहा: भारत में संस्कृत में श्लोक पढ़ा जाता तो सवाल खड़ा हो जाता

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयरलैंड की धरती से भारत में धार्मिक मामलों को लेकर समय-समय पर उठने वाले विवादों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यहां की तरह यदि किसी समारोह में वहां संस्कृत में मंत्रोचार किया जाता तो 'धर्मनिरपेक्षता' पर सवाल खड़े किए जाते।

Author डबलिन | September 24, 2015 9:32 AM
भारत में संस्कृत में श्लोक पढ़ा जाता तो धर्मनिरपेक्षता पर सवाल खड़े हो जाते: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयरलैंड की धरती से भारत में धार्मिक मामलों को लेकर समय-समय पर उठने वाले विवादों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यहां की तरह यदि किसी समारोह में वहां संस्कृत में मंत्रोचार किया जाता तो ‘धर्मनिरपेक्षता’ पर सवाल खड़े किए जाते।

मोदी ने भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए इस समारोह में आयरिश बच्चों द्वारा मंत्रोचार किए जाने का उल्लेख किया और कहा कि यदि भारत में ऐसा किया जाता तो धर्मनिरपेक्षता पर सवालिया निशान खड़ा हो जाता। साथ ही उन्होंने कहा कि इन दिनों देश में बदलाव आने लगा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इन बच्चों ने संस्कृत में स्वागत गान और मंत्रोचार किया। वे सिर्फ रटे रटाए शब्द नहीं लग रहे थे बल्कि इनमें उनके भावों की अभिव्यक्ति भी झलक रही थी। उन्होंने इस बच्चों के शिक्षकों को इसके लिए बधाई दी। श्री मोदी ने समारोह के बाद इन बच्चों के साथ तस्वीरों भी खिंचवायी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App