ताज़ा खबर
 

श्रीलंका में इंटरनेशनल बैसाख डे पर पीएम नरेंद्र मोदी का एलान- वाराणसी और कोलंबो के बीच शुरू होगी सीधी विमान सेवा

श्रीलंका में बौद्ध महोत्सव में पीएम मोदी मुख्य अतिथि हैं।

दो साल में मोदी की श्रीलंका के लिए यह दूसरी यात्रा है। (Photo AP)

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलंबो में बौद्ध धर्म के एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे। वह बौद्ध धर्म के सबसे बड़े पर्व इंटरनेशनल बैसाख डे में शामिल होने के लिए यहां पहुंचे हैं। श्रीलंका में बौद्ध महोत्सव में पीएम मोदी मुख्य अतिथि हैं। पीएम मोदी ने कहा कि भारत से बौद्ध धर्म श्रीलंका पहुंचा है। श्रीलंका से भारत का पुराना रिश्ता है। पीएम ने वाराणसी और कोलंबो के बीच सीधी विमान सेवा शुरू करने का एलान भी किया।

पीएम ने कहा कि बुद्ध की धरती से सवा करोड़ लोगों की शुभकामनाएं लेकर आया हूं।  उन्होंने कहा, “मैं सम्यकसमबुद्ध, पूर्ण चैतन्य, की भूमि से अपने साथ 1.25 अरब लोगों की शुभकामनाएं लेकर आया हूं। हमारा क्षेत्र सौभाग्यशाली है कि उसने दुनिया को बुद्ध और उनके उपदेश जैसे अमूल्य उपहार दिये।”

बैसाख दिवस भगवान बुद्ध के जन्म, उन्हें बुद्धत्व की प्राप्ति तथा उनके महापरिनिर्वाण के संदर्भ में मनाया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को यहां 14वें अंतर्राष्ट्रीय वेसाक दिवस समारोह में हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार सुबह समारोह स्थल पहुंचे, जहां उनके श्रीलंकाई समकक्ष रानिल विक्रमसिंघे ने पारंपरिक तरीके से उनकी अगवानी की। श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना भी मौजूद थे।

बता दें कि दो साल में मोदी की श्रीलंका के लिए यह दूसरी यात्रा है। उनका यह दौरा श्रीलंका के राष्ट्रपति सिरिसेना के निमंत्रण पर हो रहा है। यह मार्च 2015 के बाद प्रधानमंत्री के रूप में मोदी का दूसरा श्रीलंका दौरा है। यह पहली बार है, जब श्रीलंका अंतर्राष्ट्रीय वेसक दिवस की मेजबानी कर रहा है। इसे संयुक्त राष्ट्र से मान्यता प्राप्त है। इस समारोह का थीम ‘समाज कल्याण और विश्व शांति के लिए बुद्ध के संदेश’ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App