UN में पीएम मोदी ने पाकिस्तान को सुनाया, बोले- अफगानिस्तान को टूल की तरह इस्तेमाल न करे कोई देश

शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76 वें सत्र के दौरान कहा कि मैं उस देश का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं जिसे मदर ऑफ डेमोक्रेसी का गौरव हासिल है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के दौरान प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान का बिना नाम लिए हुए जमकर लताड़ा। (फोटो: एएनआई)

शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76 वें सत्र को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान को जमकर सुनाया और अफगानिस्तान से दूर रहने की हिदायत दी। प्रधानमंत्री मोदी ने बिना पाकिस्तान का नाम लिए हुए कहा कि जो देश आतंकवाद का इस्तेमाल पोलिटिकल टूल के रूप में कर रहे हैं उन्हें भी यह समझना चाहिए कि आतंकवाद उनके लिए भी खतरा है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कोई देश एक अपने स्वार्थ के लिए अफगानिस्तान का इस्तेमाल एक टूल के रूप में ना करे।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के दौरान वहां मौजूद प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रिग्रेसिव थिंकिंग के साथ जो देश आतंकवाद का इस्तेमाल पॉलिटिकल टूल के रूप में कर रहे हैं। उन्हें यह समझना होगा कि आतंकवाद उनके लिए भी उतना ही बड़ा खतरा है। ये सुनिश्चित किया जाना जरूरी है कि अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद फैलाने और आतंकी हमलों के लिए ना हो।

आगे उन्होंने कहा कि हमें इस बात के लिए भी सतर्क रहना होगा कि वहां की नाजुक स्थितियों का फायदा कोई देश अपने निजी स्वार्थ के लिए एक टूल की तरह इस्तेमाल करने की कोशिश ना करे। इस समय अफगानिस्तान की जनता, महिलाओं, बच्चों और अल्पसंख्यकों को मदद की जरूरत है और इसमें हमें अपना दायित्व निभाना ही होगा।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय लोकतंत्र की भी चर्चा की। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं उस देश का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं जिसे मदर ऑफ डेमोक्रेसी का गौरव हासिल है। साथ ही उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की हमारी हज़ारों वर्षों की महान परंपरा रही है। हमारी विविधता, हमारे सशक्त लोकतंत्र की पहचान है। एक ऐसा देश जिसमें दर्जनों भाषाएं हैं, सैकड़ों बोलियां हैं, अलग-अलग रहन सहन, खान-पान है। ये वाइब्रेंट डेमोक्रेसी का उदाहरण है। 

आगे उन्होंने कहा कि ये भारत के लोकतंत्र की ही ताकत है कि एक छोटा बच्चा जो कभी एक रेलवे स्टेशन की टी स्टॉल पर अपने पिता की मदद करता था वो आज चौथी बार भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित कर रहा है। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के द्वारा बनाए गए कोरोना वैक्सीन को लेकर भी अपनी बात रखी। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने दुनिया की पहली DNA वैक्सीन विकसित कर ली है जिसे 12 साल से ज्यादा आयु के सभी लोगों को लगाया जा सकता है। भारत का वैक्सीन डिलीवरी प्लेटफॉर्म कोविन एक ही दिन में करोड़ों वैक्सीन डोज़ लगाने के लिए डिजिटल सहायता दे रहा है।

   

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट