ताज़ा खबर
 

इजराइल पीएम मोदी लाइव: 70 साल लग गए किसी भारतीय प्रधानमंत्री को इजराइल आने में

पीएम मोदी ने कहा मिलने में कई साल लग गए दस बीस पचास नहीं सत्तर साल लग गए।
प्नधानमंत्री मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए।

दो देशों के विदेश दौरे पर इजराइल पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित कर रहे हैं। करीब 5 हजार भारतीयों यहुदीयों के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने भाषण दिया। सबसे पहले दोनों देशों के राष्ट्रगान बजाया गया। इसके बाद इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू नमस्ते कहकर संबोधित किया। नेतन्याहू  ने दोनों देशों के अच्छे सबंधों की बात कही। दोनों देशों के भविष्य साझा बताया। पीएम नेतन्याहू ने पीएम मोदी को डियर फ्रेंड कह कर भी संबोधित किया। इसके बाद पीएम मोदी ने अपने बात रखने सामने आए। पीएम मोदी ने कहा कि संख्या और आकार मायना नहीं रखता ये इजराइल ने करके दिखाया है साबित किया है। मैं इजरायल के शौर्य को नमन करता हूं। पीएम मोदी ने 1971 की जंग के हीरो मेजर जनरल जैकेब को भी याद किया है। पीए मोदी ने कहा कि जनरल जैकेब की पाकिस्तान को समपर्ण कराने में अहम भूमिका अदा की थी

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोशे होल्ट्जबर्ग से मुलाकात की जिसने साल 2008 के मुंबई हमले में अपने माता-पिता को खो दिया था और उस वक्त वह महज दो साल का था। मोशे अब 11 साल का है।  मोशे से मुलाकात का प्रधानमंत्री मोदी का फैसला उनके परिवार के लिए भावुक क्षण रहा। मोशे के माता-पिता जब मुंबई हमले में मारे गए तो वह महज दो साल का था मोशे के दूसरे जन्मदिन से थोड़ा पहले पाकिस्तानी आतंकवादियों ने मुंबई में कई जगह हमले किए थे। उन्होंने चाबड हाउस को भी अपना निशाना बनाया था । इस हमले में मोशे के पिता-माता…रब्बी गेवरियल तथा रिवका होल्ट्जबर्ग मारे गए थे। वे चाबड हाउस के निदेशक थे।

मोशे की देखभाल करने वाली सहायिका सांद्रा सैम्यूल्स भी इमारत में मौजूद थी, लेकिन वह एक कमरे में सीढ़ियों के नीचे छिपकर जान बचाने में सफल रही थी। वह तब बाहर आई जब उसने मोशे के रोने की आवाज सुनी और उसे उसके माता-पिता के शवों के बीच खड़े पाया। उसने उसे गोद में उठाया और इमारत से बाहर निकल गई। इस इमारत को ‘नरीमन हाउस’ नाम से भी जाना जाता है जो व्यापक नवीनीकरण के बाद 2014 में फिर से खुला। मोशे अब अपने दादा-दादी…रब्बी शिमोन रोसेनबर्ग और येहुदित रोसेनबर्ग के साथ आफुला में रहता है। सांद्रा सैम्यूल्स :53: को सितंबर, 2010 में इस्राइल की मानद नागरिकता दी गई थी। वह अक्सर यरूशलम स्थित अपने घर से मोशे और उसके दादा-दादी से मिलने जाती रहती हैं। सैम्यूल्स को भी प्रधानमंत्री से मिलने के लिए आमंत्रित किया गया ।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.